बोर्ड परीक्षा खोलेगी आईआईटी के द्वार

अमर उजाला, देहरादून Updated Tue, 28 Jan 2014 12:09 PM IST
iit preparation in board examination
आईआईटी और आईएसएम धनबाद में दाखिले की राह देख रहे युवाओं के लिए बोर्ड परीक्षा एक अच्छा रास्ता हो सकता है।

रिपोर्ट में हुआ खुलासा
बोर्ड परीक्षा की कारगर तैयारी से जेईई एडवांस की राह आसान हो जाती है। यह खुलासा हुआ है आईआईटी की ओर से जारी एक रिपोर्ट से।

रिपोर्ट के अनुसार गत वर्षों की तुलना में वर्ष 2013 में जेईई एडवांस का प्रश्नपत्र कुछ आसान था। निर्देश दिए गए थे कि पेपर में 30 प्रतिशत फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स के ऐसे सवाल रखे जाएं, जो बोर्ड की तैयारी पर आधारित हों।

इस साल भी जेईई एडवांस का प्रश्न पत्र इसी फार्मूले पर तैयार किया जाएगा। यानी अगर छात्र ने 12वीं बोर्ड परीक्षा की तैयारी बढ़िया से कर ली तो निश्चित तौर पर उसे 30 प्रतिशत सवाल ऐसे मिल जाएंगे, जो कि बोर्ड परीक्षा की तर्ज पर होंगे। छात्र उन्हें आसानी से हल कर सकेगा।

दून से हुए 105 क्वालिफाई
वर्ष 2013 में देहरादून परीक्षा केंद्र पर 671 छात्रों ने जेईई एडवांस परीक्षा दी थी, जिनमें से 105 ने क्वालिफाई किया था। रुड़की केंद्र पर 668 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी जिनमें से 92 क्वालिफाई हुए थे।

उत्तराखंड से कुल 1362 अभ्यर्थियों में से 191 छात्रों को आईआईटी का टिकट मिला। उत्तराखंड के युवाओं के लिए आईआईटी में पासिंग प्रतिशत 0.92 रहा।

बोर्ड परीक्षा की तैयारी और एनसीईआरटी की किताबें पढ़ना निश्चित तौर पर किसी भी प्रतियोगी परीक्षा के लिए बेहतर होता है। बोर्ड की तैयारी से मतलब यह है कि छात्र अपने बोर्ड के सिलेबस को भलि-भांति पढ़ लें।
- मनु पंत, सीईओ, अचीवर्ज क्लासेज

Spotlight

Most Read

Campus Archives

अब चलेगा ‘नींद से जागो’ अभियान

14 सितंबर को हिंदी दिवस के मौके पर नैनीताल उच्च न्यायालय में हिंदी में फैसले की मांग पर अमर उजाला की मुहिम नए रंग में रंगती नजर आ रही है।

14 सितंबर 2017

Related Videos

दावोस में 'क्रिस्टल अवॉर्ड' मिलने के बाद सुपरस्टार शाहरुख खान ने रखी 'तीन तलाक' पर अपनी राय

दावोस में 'विश्व आर्थिक मंच' सम्मेलन में बच्चों और एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए काम करने के लिए क्रिस्टल अवॉर्ड से नवाजे गए बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान..

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls