बिना फीस दाखिला पाए छात्रों का भविष्य अधर

अाशीष कुमार त्रिवेदी/लखनऊ Updated Thu, 21 Nov 2013 01:24 AM IST
विज्ञापन
future of students in dark

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
एलयू में एमबीए थर्ड सेमेस्टर में जीरो फीस पर दाखिला पाए छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया है। इन छात्रों ने कोर्ट के आदेश पर प्रोविजनल दाखिला लिया था।
विज्ञापन

अब कोर्ट ने एलयू के पक्ष में फैसला देते हुए कहा है कि सभी छात्र अपनी फीस जमा करें। बाद में समाज कल्याण विभाग से इसकी प्रतिपूर्ति सीधे छात्रों के खातों में कर दी जाएगी।
दरअसल इस मामले में सितम्बर में कुछ छात्रों ने कोर्ट में अपील कर प्रोविजनल दाखिला देने की मांग की थी। इस पर कोर्ट ने विवि को दाखिला करने का आदेश दिया था।
पिछले दिनों एलयू ने कोर्ट को बताया कि फीस प्रतिपूर्ति सीधे छात्रों के अकाउंट में होती है इसलिए छात्रों को फीस देनी चाहिए। इस पर कोर्ट ने फीस जम करने का निर्देश दिया।

29 नवंबर से परीक्षाएं होनी हैं। इससे पहले इन छात्रों से फीस जमा करने को कहा गया है। इधर छात्रों का कहना है कि समाज कल्याण विभाग की ओर से अब तक रुपये नहीं आए हैं।

ऐसे में एक सप्ताह के भीतर 75 हजार रुपये को जुगाड़ न कर पाने पर उनके भविष्य पर संकट हो सकता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us