बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

गरीबों के नाम की राजनीति से धनकुबेर बने लालू यादव

मणिकांत ठाकुर Updated Thu, 18 May 2017 07:10 PM IST
विज्ञापन
who is lalu yadav, know everything about him
ख़बर सुनें
कौन हैं लालू? इस सवाल पर यह जवाबी सवाल ही सटीक बैठता है कि 'को नहिं जानत है जग में?' लालू अपनी सियासी लीलाओं के कारण विख्यात हुए हों या घोटालों की वजह से कुख्यात- इस पर यहाँ बहस छेडना मेरा मकसद नहीं है।
विज्ञापन


मकसद है उनकी पहचान संबंधी विभिन्न पहलुओं में से कुछ का जिक्र करना ताकि चारा घोटाले की ही तरह बेनामी संपत्ति विवाद में भी उनकी चर्चा पढ़-सुन रही नई पीढ़ी को लालू यादव के बारे में थोडी और जानकारी मिल सके। भारतीय राजनीति के इस बहुचर्चित बिहारी नेता की अब उम्र हो गई है 68 साल। गोपालगंज जिले के फुलवरिया गांव में एक गरीब परिवार में जन्मे।


राष्ट्रीय जनता दल
दो बेटे और सात बेटियों के पिता हैं। पटना यूनिवर्सिटी से बीए और एलएलबी पास हैं। लगभग चालीस साल पहले जेपी आंदोलन के समय छात्र नेता के रूप में उभरे। फिर सियासत में सितारा चमका तो वर्ष 1990 में बिहार के मुख्यमंत्री का ओहदा मिल गया। जनता दल से अलग हो कर 'राष्ट्रीय जनता दल' नाम से अपनी पार्टी बनाई।

सब कुछ ठीकठाक चल रहा था कि अचानक पशुपालन विभाग में हुए अरबों रुपये के घपले का भंडाफोड़ हो गया। शासन के दूसरे टर्म का अभी आधा समय भी नहीं गुजरा था कि चारा घोटाले में फंसे लालू प्रसाद को कुछ समय के लिए जेल जाना पडा। तब से लेकर आठ-नौ वर्षों तक लालू यादव अपनी पत्नी राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री पद पर बिठा कर परोक्ष रूप से शासन चलाते रहे।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

लालू-राबड़ी राज

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us