नीरव मोदी केस ने फुलाए मोदी सरकार के हाथ-पांव

शशिधर पाठक, नई दिल्ली Updated Thu, 15 Feb 2018 09:27 PM IST
PNB scam PNB Fraud case Modi government in tension with Nirvava Modi case
नीरव मोदी
पंजाब नेशनल बैंक से धोखाधड़ी करने वाले नीरव मोदी और अन्य को लेकर पहले कांग्रेस आक्रामक हुई और फिर भाजपा। दोनों के एक दूसरे पर वार-पलटवार जारी रहे, लेकिन इससे काफी पहले इस प्रकरण ने केन्द्र सरकार के हाथ-पांव फुला दिए। विदेश मंत्रालय के अधिकारियों को यह दूसरा विजय माल्या केस नजर आ रहा है। वहीं सीबीआई के सूत्रों को इस घोटाले के 11,400 करोड़ रुपये से अधिक का होने की उम्मीद है। फिलहाल अभी केन्द्र सरकार इस मामले के सामने आने के बाद उठने वाले तूफान को शांत करने का उपाय तलाशने में व्यस्त है।
पहले ही निकल लिए नीरव मोदी 

नीरव मोदी, उनके भाई निशाल मोदी, निशाल मोदी की पत्नी एमी और बिजनेस पार्टनर मेहुल चीनूभाई चौकसी घोटाले की जानकारी लोगों तक पहुंचने के पहले देश छोड़कर फरार हो गए। जांच एजेंसियों को अंदेशा है कि पंजाब नेशनल बैंक के अंदर उनसे जुड़े प्रकरण को लेकर हलचल तेज थी। इसका उन्हें अंदाजा लग चुका था और समय रहते इन लोगों ने देश को छोड़ दिया। मिली जानकारी के अनुसार जनवरी 2018 के पहले से दूसरे सप्ताह के दौरान सभी ने भारत छोड़ दिया। नीरव मोदी स्विट्जरलैंड चले गए और अनुमान है कि वह इस समय वहीं हैं। वह स्विट्जरलैंड से ही कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज के आमंत्रण पर 23 जनवरी को वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की दावोस में चल रही बैठक में पहुंचे थे। भारतीय निवेशकों (सीईओ) फोरम के सम्मेलन में हिस्सा लिए थे और समूह के लोगों में शामिल होकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ फोटो भी खिंचवाई थी। यह फोटो पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) ने भी जारी की थी। 

पांच दिन बाद सीबीआई के पास पहुंची शिकायत 

23 जनवरी को प्रधानमंत्री के साथ तस्वीर आने के पांच दिन बाद 29 जनवरी 2018 को पंजाब नेशनल बैंक के डीजीएम ने केन्द्रीय जांच एजेंसी, सीबीआई के संयुक्त निदेशक को धोखाधड़ी मामले की आशंका जताते हुए जांच के लिए पत्र लिखा। नीरव मोदी ने बैंक से छह महीने में पैसे चुका देने के लिए समय मांगा है। बताते हैं लेकिन मामला बैंक के बड़े अधिकारियों के सामने आने के बाद नीरव के प्रस्ताव आने तक बहुत देर हो चुकी थी। दिलचस्प है कि सीबीआई को यह पत्र 29 जनवरी को लिखा गया। 31 जनवरी को सीबीआई ने प्राथमिकी भी दर्ज कर ली, लेकिन इस घोटाले की परत खुलने और मामले के सार्वजनिक होने में दो सप्ताह से अधिक का समय लग गया। प्रवर्तन निदेशालय ने भी मनी लॉन्ड्रिंग के तहत मामला दर्ज किया है और नीरव मोदी, गीतांजलि ज्वेलर्स के प्रमोटर मेहुल चौकसी समेत अन्य के ठिकानों पर छापेमारी की कार्यवाही जारी है। 
आगे पढ़ें

पीएनबी घोटाला की जांच जटिल है?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

पाक राजनयिक पर शिकंजा कसने की कोशिश में भारत, रेड कार्नर नोटिस जारी कराने की शुरू की प्रक्रिया

कोलंबो पाक उच्चायोग में कार्यरत राजनयिक ने दक्षिण भारत में आतंकी हमले की साजिश रची थी।

26 फरवरी 2018

Related Videos

EXCLUSIVE: देखिए श्रीदेवी के कार्डिएक अरेस्ट की वजह

श्रीदेवी की मौत से पूरा हिंदुस्तान हिल गया है। आधी रात आई इस खबर पर लोगों को विश्वास नहीं हो रहा है। जानकारी मिली की कार्डिएक अरेस्ट की वजह से श्रीदेवी का निधन हुआ है लेकिन अमर उजाला टीवी पर देखिए आखिर कैसे आया कार्डिएक अरेस्ट।

26 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen