अब किराये की बिल्डिंगों में नहीं चलेंगे इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेज

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली Updated Sat, 10 Feb 2018 01:08 AM IST
Now engineering and management colleges will not run in rented buildings
ख़बर सुनें
इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट के कॉलेज अब किराये या अस्थायी भवनों में नहीं चल पाएंगे। केंद्र सरकार ने उच्च शिक्षण संस्थानों को दो साल के भीतर अपने कैंपस में शिफ्ट करने का निर्देश दिया है। सरकार ने अस्थायी भवनों में चल रहे कॉलेजों को 16 फरवरी तक एआईसीटीई स्टैंडिंग हियरिंग कमेटी के समक्ष अपना प्रस्ताव देने को कहा है।
दो साल के अंदर स्थायी कैंपस में शिफ्ट करने के निर्देश

एआईसीटीई की ओर से इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट फॉर्मेसी कॉलेजों के प्रिंसिपल व डायरेक्टर को इस संबंध में सूचना दे दी गई है। नए निर्देश के तहत सरकारी कॉलेजों को एआईसीटीई भवन निर्माण के लिए फंड देगा, इसलिए उन्हें कमेटी के समक्ष अपना प्रस्ताव बनाकर देना पड़ेगा।

देश में 35 सरकारी कॉलेज किराये के परिसर में चल रहे हैं

देशभर में करीब 35 सरकारी कॉलेज अस्थायी भवनों में चल रहे हैं, जिनमें गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक बदायूं, गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक प्रतापगढ़, बिजनौर, एटा, जीपी नगर, कानपुर देहात, मैनपुरी, आगरा आदि के नाम प्रमुख हैं। 

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

तमिलनाडुः प्लांट के विरोध में हिंसक हुअा प्रदर्शन, 9 की मौत, दर्जनों घायल

तमिलनाडु में तुतीकोरिन स्टरलाइट इंडस्ट्रीज पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन में 9 लोगों की मौत हो गई है जबकि कई दर्जनों लोग घायल बताए जा रहे हैं।

22 मई 2018

Related Videos

VIDEO: RPF जवान ने 72 साल के बुजुर्ग को मौत के मुंह से बाहर निकाला

सोशल मीडियो पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें एक आरपीएफ के जवान ने एक बुजुर्ग शख्स को मौत के मुंब से बाहर निकाला। ये वीडियो खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर डाला है।

22 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen