Hindi News ›   India News ›   live: massive protest over jallikattu across tamilnadu, paneerselvam assures protesters

जल्लीकट्टू के समर्थन में रजनीकांत समेत कई सितारे, पनीरसेल्वम ने दिया आश्वासन

टीम डिजिटल/अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 20 Jan 2017 06:42 PM IST
 live: massive protest over jallikattu across tamilnadu, paneerselvam assures protesters
विज्ञापन
ख़बर सुनें
सांड़ों पर काबू पाने के खेल जल्लीकट्टू पर प्रतिबंध लगाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ तमिलनाडु में आंदोलन और तेज हो गया है। चेन्नई के मरीना बीच पर लाखों लोग विरोध-प्रदर्शन को जुटे हैं। रजनीकांत, एआर रहमान, श्री श्री, जग्गी वासुदेव समेत कई शख्सियत इस आंदोलन को समर्थन दे चुकी है। राज्य में आज बंद का ऐलान किया गया है। जल्लीकट्टू पर पढ़िए हर ताजा अपडेट्स- 


LIVE UPDATES:



मायानगरी मुंबई में भी जल्लीकट्टू को लेकर लोगों में खुमारी सिर चढ़कर है। यही वजह है कि लोग मानव श्रंखला बनाकर जल्लीकट्टू के समर्थन में विरोध प्रदर्श कर रहे हैं।


जल्लीकट्टू पर बोले अभिनेता अनुपम खेर, कहा- ये तथाकथित आत्म घोषित पशु कार्यकर्ता और छद्म बुद्धिजीवी अपने आक्रोश और आत्म धर्म में बहुत ही चयनात्मक हैं।

केंद्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन बोले- सरकार को पेटा (PETA) पर नजर रखनी चाहिए। क्यों वे लोग कानून की दुहाई देकर हमारी संस्कृति में गैरवाजिब दखलंदाजी कर रहे हैं।

जल्लीकट्टू के समर्थन हो रहे विरोध प्रदर्शन का वीडियो-
- हम सभी को साथ आना होगा। हमारी मांग है कि सुप्रीम कोर्ट इस मुद्दे पर थोड़ी संवेदनशीलता दिखाए: गणेश वेंकटारमन, तमिल अभिनेता


- मुंबई में मानव श्रृखंला बना कर जल्लीकट्टू पर लगी रोक का विरोध करते लोग।


- गुजरात के वड़ोदरा में जल्लीकट्टू के समर्थन में प्रदर्शन करते लोग।


- हम जल्लीकट्टू पर विभिन्न विरोध-प्रदर्शनों का अगुवाई कर रहें हैं। युवाओं का सहयोग सराहनीय है। साथ ही इस मुद्दे पर तमिलनाडु मुख्यमंत्री का ताजा बयान राहत देने वाला है: एमके स्टालिन, डीमके अध्यक्ष


- तमिनाडु मुख्यमंत्री, पनीरसेल्वम ने कहा कि हमें उम्मीद है कि शाम तक अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेज दिया जाएगा।


- पनीरसेल्वम ने कहा कि हम इस बात की भी उम्मीद करते है कि परसों तक इस अध्यादेश की अधिसूचना भी जारी हो जाएगी।

- यह पूछने पर कि क्या वह जल्लीकट्टू खेल के आयोजन का शुभारंभ करेंगे, पनीरसेल्वम ने कहा, 'आप की इच्छा पूरी होगी।'

- टाइम्स नाउ की खबर के मुताबिक तमिल सुपरस्टार रजनीकांत भी जलीकट्टू पर जारी विरोध प्रदर्शन में पहुंचे।


- गृहमंत्री ने तमिलनाडु सरकार के प्रस्ताव पर विचार करने को स्वीकार कर लिया है। कम से कम समय में इस मुद्दे को हल करने की कोशिश की जाएगी: अनिल दवे, वन व पर्यावरण राज्य मंत्री


- अनिल दवे ने कहा कि इस मुद्दे पर जो भी होगा वो जल्द ही आप लोगों के सामने आएगा। आज शाम या कल तक हम नतीजे तक पहुंच जाएंगे।

- अनिल दवे ने कहा कि सांड को 2011 में ही प्रदर्शन करने वाले जानवरों की सूची में जोड़ दिया गया था। 

- केंद्र और तमिलनाडु सरकार बातचीत कर रही है। जल्लीकट्टू पर अभी सरकार के सामने सभी विकल्प है।

- सुप्रीम कोर्ट से सरकार ने आग्रह किया कि जल्लीकट्टू पर एक हफ्ते तक कोई फैसला न जारी किया क्योंकि मामला अभी काफी गर्म है, जिसपर सुप्रीम कोर्ट राजी हो गया: मुकुल रोहतगी, अटार्नी जनरल


- जल्लीकट्टू पर रोक के विरोध में डीमके कार्यकर्ता कल एक दिन का उपवास रखेंगे। पार्टी अध्यक्ष एमके स्टालिन कोट्टम से कल विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व करेंगे।

- जल्लीकट्टू पर बैन के लिए कांग्रेस और डीमके मुख्य रुप से जिम्मेदार हैं। डीमके ने तमिलनाडु के लोगों से धोखा किया। यहां तक कि 2014 के बाद बीजेपी ने भी इस मुद्दे पर ध्यान नहीं दिया। :थंबीदुरई, एआईडीएमके नेता

- एआईडीएमके सांसद आज दोपहर दो बजे जल्लीकट्टू मुद्दे पर राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से मुलाकात करेंगे।

- एआईडीएमके पार्टी के सांसद गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलकर अध्यादेश लाने की मांग की।


- थंबीदुरई ने कहा गृहमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया है कि हम इस मामले में तेजी लाएंगे और सुनिश्चित करेंगे कि एक-दो दिन में सब कुछ साफ हो सके और तमिलनाडु अध्यादेश पास कर सके।


- एआईडीएमके नेता, एम थंबीदुरई ने कहा कि हम सभी राजनाथ सिंह से यह आग्रह करने आए हैं कि वो जल्लीकट्टू के आयोजन के लिए आध्यादेश लाने के संबंध में आवश्यक कदम उठाए।

- दिल्ली के जंतर-मंतर पर जल्लीकट्टू के आयोजन के समर्थन में धरने पर बैठे लोग।


- एआईडीएमके पार्टी के सांसद जल्लीकट्टू मुद्दे पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलने उनके आवास पर पहुंचे।


- पूर्व अटार्नी जनरल सोली सोराबजी ने कहा कि इस तरह के प्रदर्शन करना बंद होना चाहिए। इससे कोई पहाड़ नहीं टूट जाएगा। इस तरह के मुद्दों पर बात रखने के लिए सुप्रीम कोर्ट ही सही मंच है।


- तमिलनाडु के कोयटूंबर में जल्लीकट्टू आयोजन के समर्थन में धरने पर बैठे लोग।


- ओवैसी ने जलीकट्टू पर चल रहे प्रदर्शन को हिंदुत्ववादी ताकतों के लिए सबक बताया है। ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, 'जलीकट्टू पर हो रहा विरोध प्रदर्शन हिंदु्त्ववादी ताकतों के लिए सबक है। यूनिफॉर्म सिविल कोड इस देश पर थोपा नहीं जा सकता क्योंकि इस देश में सिर्फ एक संस्कृति नहीं है। हम सभी का जश्न मनाते हैं।'


- जल्लीकट्टू के समर्थन में रेल रोकने पर हिरासत में लिए गए डीमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन को पुलिस ने रिहा किया।

- नादिगर संगम संगठन के लोग जल्लीकट्टू के समर्थन में सड़कों पर आए। नादिगर संगम,  दक्षिण भारतीय कलाकारों का संगठन है।


- कनिमोझी ने कहा कि एमके स्टालिन ने राज्य सरकार से आग्रह किया है कि वो जल्लीकट्टू पर तत्काल कानून बनाने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाएं।


- केंद्र सरकार की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट एक हफ्ते तक कोई अंतरिम आदेश न देने के लिए राजी हुआ।

- चेन्नई के इग्मोर रेलवे स्टेशन पर डीमके कार्यकर्ताओं ने पुलिस द्वारा लगाए बैरीकेड को पार कर ट्रेन को रोका।


- सांसद और डीमके नेता कनिमोझी जल्लीकट्टू के समर्थन में चेन्नई के इग्मोर रेलवे स्टेशन पर 'रेल रोको' प्रदर्शन करते हुईं


- जल्लीकट्टू पर केद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दी अर्जी, कहा- एक हफ्ते तक सुप्रीम कोर्ट जल्लीकट्टू मुद्दे पर कोई फैसला न दे।

- अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट से कहा केंद्र और राज्य सरकार जल्लीकट्टू मुद्दे के समाधान पर विचार कर रहीं है। ऐसे में कोर्ट एक हफ्ते तक कोई इस मुद्दे पर कोई सुनवाई न करे।


- जल्लीकट्टू के समर्थन में रेल रोकने पर डीमके के कार्यकारी अध्यक्ष स्टालिन को तमिलनाडु पुलिस ने समर्थकों संग हिरासत में लिया।


- तमिलनाडु मुख्यमंत्री ओ पनीरलेल्वम ने जल्लीकट्टू पर रोक के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का विरोध कर रहे लोगों से कहा है कि जल्लीकट्टू का आयोजन अगले दो दिनों में होगा। साथ ही उन्होंने प्रदर्शनकारियों से विरोध प्रदर्शन वापस लेने की भी अपील की।


- ऑस्कर विजेता संगीत निर्देशक ए आर रहमान ने भी प्रदर्शनकारियों के साथ एकजुटता दिखाते हुए ऐलान किया कि वह आज एक दिन का उपवास रखेंगे। रहमान ने ट्वीट कर कहा, 'मैं तमिलनाडु के लोगों की भावना के समर्थन में कल उपवास रख रहा हूं।' 



- सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने कहा कि जल्लीकट्टू खेल पर रोक लगाना युवाओं के विकास पर रोक लगाने जैसा होगा। अगर जल्लीकट्टू को खतरनाक माना जा रहा है तो फिर क्रिकेट पर भी रोक लगाई जाए, क्योंकि क्रिकेट में भी 150 किमी की रफ्तार से बॉल आती है जो किसी की जान लेने के लिए पर्याप्त है।


- जल्लीकट्टू से प्रतिबंध हटाने के लिए तमिलनाडु में हो रहा प्रदर्शन अब श्रीलंका, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया तक पहुंच गया है। इन देशों में तमिल प्रवासियों ने प्रदर्शन कर जल्लीकट्टू की इजाजत देने की मांग की है।

- मंगलवार और बुधवार को लंदन में भारतीय उच्चायोग के साथ ही इंग्लैंड के लीड्स और आयरलैंड के डब्लिन में तमिल प्रवासियों ने प्रदर्शन किया। 

- श्रीलंका के जाफना के साथ ही आस्ट्रेलिया के मेलबर्न और सिडनी में भी प्रदर्शन किया गया, जिसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए। जहां तक तमिलनाडु की बात है तो यहां पिछले कई दिनों से प्रदर्शन हो रहा है। 

- जल्लीकट्टू के आयोजन का समर्थन करते हुए बृहस्पतिवार को वीएचपी ने कहा कि न्यायालय को हिंदुओं प्राचीन विश्वासों में दखल नहीं देना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो बैलों को लेकर भावनात्मक हैं उन्हें गौ-हत्या पर पाबंदी लगाने की भी मांग करनी चाहिए।

- प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि हम बड़े पैमाने पर समाज में सभी सरकारों, न्यायपालिका और मीडिया से आग्रह करते हैं कि जल्लीकट्टू और गणेश/दुर्गा विसर्जन जैसे प्राचीन मान्यताओं, आस्थाओं और हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं में हस्तक्षेप ना करें।
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00