विज्ञापन
विज्ञापन

कानों देखी : मंथन में व्यस्त है अमित शाह की टीम

शशिधर पाठक अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 16 Apr 2019 12:19 AM IST
अमित शाह
अमित शाह
ख़बर सुनें
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आखिरी समय में भी बाजी पलटने के लिए जाने जाते हैं। इस  समय वह उ.प्र. में बाजी पलटने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। उ.प्र. के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव मोर्य, दिनेश शर्मा, भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडे समेत सभी रणनीतिकारों को लगातार जीत का मंत्र दे रहे हैं। वह 11 अप्रैल को पहले चरण के मतदान वाली रात को लखनऊ में ही थे और मैराथन बैठक में व्यस्त थे। शाह की पूरी कोशिश जातिगत राजनीतिक धरातल पर खड़े उ.प्र. में अधिक से अधिक यादव को छोड़कर अन्य पिछड़ी जातियों, जाटव को छोड़कर अन्य अनुसूचित जातियों, जनजातियों पर टिकी है। वह कोईरी, कुर्मी, नाई, कोहार, कुम्हार, बढ़ई, नोनिया, केवट, मुशहर, निषाद सबको साथ लेकर चलने की राजनीति को बल देने में जुटे हैं। इसी के तरह पश्चिमी उ.प्र. में भी उनका जोर इसी पर है। वह जाट को भी इसमें प्रमुखता से शामिल कर रहे हैं। बताते हैं शाह का यह दांव चला तो उ.प्र. में भाजपा 2019 में भी चौकाने वाले नतीजे लाएगी। टीम भाजपा तो कह रही है कि पहले चरण की आठ में से बस दो पर संदेह है। बाकी आठ सीट भाजपा की झोली में है।
विज्ञापन
फिर प्रियंका को लेकर क्यों बढ़ रहा है ब्लड प्रेशर

भाजपा के रणनीतिकार प्रियंका गांधी वाड्रा को कोई भाव नहीं दे रहे हैं। यही स्थिति सपा-गठबंधन में भी है। अखिलेश सरकार के मंत्री रहे सपा के रणनीतिकार के अनुसार प्रियंका का जादू बस अमेठी-रायबरेली में है। बाकी जगह भीड़ बस उन्हें देखने आती है। उ.प्र. सरकार के एक केन्द्रीय मंत्री का भी यही मानना है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडे के टीम के सदस्य का कहना है कि मीडिया को छोड़कर कोई प्रियंका को भाव नहीं देता। वहीं प्रियंका वाराणसी से बलिया तक फिर नाव में बैठक गंगा यात्रा करने वाली हैं। बताते हैं उनकी मोटरबोट यात्रा को बेअसर करने के लिए भाजपा ने स्थानीय स्तर पर कार्यक्रम की रूपरेखा देना शुरू कर दिया है। बताते हैं कि जहां भी प्रियंका जा रही हैं, अपनी चर्चा के अनुरुप भीड़ ला रही हैं। भीड़ ही नहीं वह कांग्रेसियों को उत्साह में भर देती है। प्रियंका का सरल तरीके से संवाद लोगों को प्रियंका मय बना दे रहा है। इससे भाजपा और सपा-बसपा गठबंधन को अपना वोट कटने की चिंता सताने लगती है। यह चिंता भाजपा को थोड़ा ज्यादा होने लगती है, लिहाजा इंतजाम करने के बाद भी ब्लड प्रेशर बढ़ जा रहा है।


बिना भीड़ के कैसे चढ़ेगा मोदी रंग

राहुल गांधी जब चुनाव मंच पर चढ़ते हैं तो उनके गाल पर गड्ढा साफ उभर आता है। कांग्रेसी इसका कारण जनसभा में उमड़ रही भीड़ को मानते हैं। बताते हैं जब राहुल के साथ कहीं प्रियंका होती हैं तो भीड़ दो गुना उत्साह दे देती है। जबकि 2014 में कांग्रेस अध्यक्ष ऐसा मंजर देखने के लिए तरस कर रह जा रहे थे। बड़ी कोशिश के बाद भी मैदान छोटा तलाशा जाता था। 
यह तो हो गई कांग्रेस की बात, लेकिन भीड़ को लेकर अब भाजपा की चिंता बढ़ रही है। उसे लग रहा है कि जब जनसभा में भीड़ नहीं आएगी तो मोदी का जादू कैसे चलेगा? दरअसल 2014 के मुकाबले भीड़ काफी घट गई है। 2014 के आम चुनाव की रैली में मोदी की जनसभा में बड़ा मैदान छोटा पड़ जाता था। लोग बिन बुलाए और खुद बड़ी संख्या में आते थे। जबकि हर जनसभा को पहले से काफी आधुनिक, डिजिटल और शानदार रूप दिया जा रहा है। बताते हैं कि टीम अमित शाह ने भी इस पर विशेष ध्यान देना शुरू कर दिया है। वरिष्ठ सूत्र की माने तो मोदी और शाह की रैलियों को लेकर आगे विशेष ध्यान देने की योजना है, ताकि भीड़ तंत्र  के जरिए मतदाताओं में आकर्षण बढ़ाया जा सके। 


बिन पासवान के छोरा क्या जला पाएगा चिराग?

राम विलास पासवान ने भले बेटे चिराग के हाथ में पार्टी की लगाम दे दी है, लेकिन जमुई की जनता में वह स्पार्क नहीं दिख रहा है। जमुई में तीन सप्ताह तक मैराथन चुनावी प्रचार करके आए सूत्र की माने तो बिहार की जनता को राम विलास पासवान में अपनापन दिखता है। चिराग युवा हैं, उत्साही हैं, लेकिन सबके बावजूद राम विलासपान की तरह जमीनी नहीं है। बताते हैं कि इस चिंता राम विलास पासवान को भी हो रही है। वह खुद जमुई से लगातार रिपोर्ट ले रहे हैं। पासवान इस बार चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। उन्हें भाजपा ने असम से जून 2019 में राज्यसभा सीट देने का भरोसा दिया है। इसलिए पासवान चाहते हैं कि पुत्र चिराग हाजीपुर से उनकी विरासत को संभाल लें। हाजीपुर पासवान की सीट है। यहां उनका अपना जनाधार है। चिराग यहां से भी चुनाव में उतरेंगे तो जीत की गारंटी हो जाएगी। हालांकि अभी सब विचार के स्तर पर है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

India News

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- ‘बड़ी ताकत’ प्रधान न्यायाधीश को निष्क्रिय करना चाहती है

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने अपने खिलाफ लगाये गये यौन उत्पीड़न के आरोपों को ‘अविश्वसनीय’ बताते हुये सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई की और कहा कि इसके पीछे एक बड़ी साजिश का हाथ है और वह इन आरोपों का खंडन करने के लिये भी इतना नीचे नहीं गिरेंगे।

20 अप्रैल 2019

विज्ञापन

पश्चिम बंगाल, बिहार और यूपी में गरजे पीएम मोदी, इस अंदाज में विपक्ष पर साधा निशाना

शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने कई रैलियों को संबोधित किया। पीएम नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल के बुनियादपुर, बिहार के अररिया और उत्तर प्रदेश के एटा और बरेली में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। इस दौरान वो विपक्षी दलों पर जमकर बरसे।

20 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election