लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Home Ministry: Task force constituted to check rising tendency of suicide among CRPF jawans

गृह मंत्रालय : सीआरपीएफ जवानों में आत्महत्या की बढ़ती प्रवृति को रोकने के लिए कार्य बल गठित

एजेंसी, नई दिल्ली Published by: Kuldeep Singh Updated Thu, 02 Dec 2021 01:57 AM IST
सार

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) आंतरिक सुरक्षा के लिए देश में कई सबसे चुनौतीपूर्ण जगहों और कठिन इलाकों में तैनात है। पिछले छह माह के दौरान सशस्त्र केंद्रीय बलों के 680 जवान आत्महत्या कर चुके हैं। लेकिन अब गृह मंत्रालय ने सीआरपीएफ के जवानों में आत्महत्या की बढ़ती प्रवृति को रोकने के लिए एक कार्य बल का गठन किया है।

गृह मंत्रालय
गृह मंत्रालय - फोटो : ANI
ख़बर सुनें

विस्तार

गृह मंत्रालय ने केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवानों में आत्महत्या की बढ़ती प्रवृति को रोकने के लिए वरिष्ठतम अधिकारियों को शामिल करते हुए एक कार्य बल का गठन किया है। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) आंतरिक सुरक्षा के लिए देश में कई सबसे चुनौतीपूर्ण जगहों और कठिन इलाकों में तैनात है। पिछले छह माह के दौरान सशस्त्र केंद्रीय बलों के 680 जवान आत्महत्या कर चुके हैं।



व्यक्तिगत जोखिम और सुरक्षात्मक कारकों की पहचान करेगा कार्यबल
सीआरपीएफ के डायरेक्टर जनरल (डीजी) कुलदीप सिंह की अध्यक्षता में बनने वाले कार्यबल में बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ, एसएसबी और असम राइफल्स के विशेष या अतिरिक्त डीजी सदस्य होंगे। यह कार्यबल व्यक्तिगत जोखिम और सुरक्षात्मक कारकों की पहचान करेगा।


अधिकारियों का कहना है कि कई बार जवानों में तनाव का कारण घरेलू होता है। कई बार वे कड़ी सेवा शर्तों और जीवन के कठिन हालात के कारण मानसिक संतुलन खो देते हैं। गृह मंत्रालय ने कार्य बल से जोखिम के कारकों, यथा पहले आत्महत्या की कोशिश, अस्थिर व्यक्तित्व, खराब मानसिक स्वास्थ्य, शराब या अन्य मादक पदार्थों के उपयोग, आक्रामक प्रवृति, विकट भावनात्मक कमजोरी, दूसरों की तुलना में ज्यादा विकट हालात में रहने आदि के अध्ययन के लिए कहा है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00