बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

आत्मनिर्भरता के संकल्प के साथ मिलकर मनाएं गांधी जयंती

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Published by: अनवर अंसारी Updated Thu, 01 Oct 2020 05:51 PM IST

सार

  • उत्तर प्रदेश खादी ग्रामोद्योग बोर्ड का खास आयोजन, अमर उजाला है मीडिया पार्टनर
  • फैंसी ड्रेस, पेंटिंग और स्लोगन प्रतियोगिता में साबित करनी होगी स्वदेशी समझ
  • युवाओं-बच्चों की प्रतियोगिताओं के जरिए संपूर्ण स्वदेशी का मतलब बताने की पहल
विज्ञापन
संपूर्ण स्वदेशी
संपूर्ण स्वदेशी - फोटो : Amar Ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

स्वदेशी अपनाकर आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने का यह बिल्कुल सही समय है। महामारी की चुनौतियों ने आत्मनिर्भरता के महत्व को जन-जन को समझाया है। चलिए मिलकर कदम बढ़ाते हैं आत्मनिर्भर भारत की ओर और इसकी शुरुआत करते हैं गांधी जयंती से। जी, हां युवाओं व बच्चों के हाथों में स्वदेशी का हथियार देकर हम आर्थिक चुनौतियों पर जीत हासिल कर सकते हैं, इसी सोच को आगे बढ़ाने का फैसला किया है उत्तर प्रदेश खादी ग्रामोद्योग बोर्ड ने।
विज्ञापन


इसी कड़ी में गांधीजी की 152वें जयंती पर संपूर्ण स्वदेशी की थीम पर आत्मनिर्भर भारत अभियान शुरू किया जा रहा है। इसके तहत मीडिया पार्टनर ‘अमर उजाला’ के सहयोग से उत्तर प्रदेश खादी ग्रामोद्योग बोर्ड डिजिटल प्लटफॉर्म पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन करेगा, जिसके लिए प्रविष्टियां आमंत्रित की जा रही हैं।

 

जानिए, कब-कौन सी प्रतियोगिता होगी और कौन ले सकता है हिस्सा


फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता : परंपरा और भारतीयता का संगम
बच्चों के प्रति बापू के स्नेह को देखते हुए बोर्ड फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है। प्रतियोगिता का विषय है पारंपरिक भारतीय या खादी पोशाक।
प्रतिभागी की उम्र: इसमें 03 से लेकर 07 साल तक के बच्चे हिस्सा ले सकते हैं।

मेगा ड्राइंग प्रतियोगिता : स्वदेशी, स्वच्छता और प्रकृति के चित्र उकेरें
स्वच्छता के नियम का पालन करते हुए प्रकृति यानी पेड़-पौधे, पशु पक्षी, धरती आकाश, पर्यावरण सभी सुरक्षित रहें और समृद्ध बनें, यही बापू का संदेश था। इसी थीम पर पेंटिंग बनाकर भेजना है।
प्रतिभागियों की उम्र: 08 से 12 साल तक के प्रतिभागी हिस्सा ले सकते हैं।

स्लोगन लेखन प्रतियोगिता : शब्द-शब्द स्वदेशी
गांधी जी स्वदेशी को आचरण में उतारने की सलाह देते थे। उनके इसी संदेश को आपको स्लोगन के रूप में उतारना है और लिख कर हमें भेजना है। स्लोगन प्रतियोगिता की थीम है स्वदेशी, स्वच्छता और प्रकृति। इस थीम पर स्लोगन लिखकर अधिकतम 24 शब्दों में हमें भेजें।
आवेदक की उम्र: 13 से 25 साल तक के आवेदक इसमें हिस्सा ले सकते हैं।

काव्य कैफे : कविताओं में बापू और उनके आदर्श
अमर उजाला काव्य कैफे के मंच पर कवि सम्मेलन का आयोजन दो अक्तूबर की शाम सात बजे किया जाएगा। इसका सीधा प्रसारण अमर उजाला के फेसबुक पेज पर भी होगा। साथ ही यूट्यूब चैनल पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं।

दस अक्तूबर तक घोषित किए जाएंगे परिणाम
विजयी प्रतिभागियों की घोषणा 10 अक्तूबर 2020 तक की जाएगी। परिणाम देखने के लिए दी गई वेबसाइट के होम पेज पर घोषणाओं पर क्लिक करना होगा। प्रत्येक प्रतिभागी को डिजिटल प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। तीनों प्रतियोगिताओं में दस-दस शीर्ष विजेताओं को सम्मानित किया जाएगा।

पंजीकरण के लिए वेबसाइट पर क्लिक करें या क्यूआर कोड स्कैन करें
फैंसी ड्रेस, ड्राइंग और स्लोगन लेखन प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए प्रतिभागी को दी गई वेबसाइट पर क्लिक करना होगा। https://auevents.in/swadeshi/ या फिर क्यू आर कोड स्कैन करें।
 
ये दो नंबर भी हैं आपके काम के
नियम पढ़ने के बाद भी यदि किसी को कोई उलझन हो तो वे 8858900080 पर कॉल कर सकते हैं। इसके अलावा दूसरा नंबर 72539 85620 फोटो व्हाट्सएप करने के लिए है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us