गगनयान: 7 दिनों तक अतंरिक्ष में रहने वाले 3 भारतीयों का ऐसे होगा चयन, पैदा 15 हजार नौकरियां

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: पूजा मेहरोत्रा Updated Sun, 30 Dec 2018 02:29 PM IST
Ganganyaan mission
Ganganyaan mission
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मोदी कैबिनेट ने हाल ही में 10 हजार करोड़ की महत्वकांक्षी गगनयान परियोजना को मंजूरी दी है। इस मिशन के तहत तीन भारतीयों को सात दिनों के लिए अंतरिक्ष में भेजा जाएगा। इस मिशन के सफल होने पर भारत मानव को अंतरिक्ष में भेजने वाला दुनिया का चौथा देश बन जाएगा। इस परियोजना में मदद के लिए भारत ने पहले ही रूस और फ्रांस के साथ करार किया है। अभी तक रूस, अमेरिका और चीन ही ऐसे देश हैं जिन्होंने मानव को अंतरिक्ष में भेजा है।
विज्ञापन


इसरो के लिए बड़ी चुनौती

इस मिशन को साल 2022 तक पूरा करना भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के लिए बहुत बड़ी चुनौती होगी। विशेषज्ञों का कहना है कि इसरो को मियाद (2022) में काम पूरा करने के लिए पूरी तत्परता के साथ काम करना होगा। इस काम के लिए करीब 40 महीनों का ही समय है। इतने कम समय में काम को पूरा कर पाना इसरो के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है।


ये है इसरो की योजना

इसरो के चेयरमैन के. सिवान का कहना है कि उनकी टीम इस मिशन पर बीते चार महीने से काम कर रही है। मिशन के डिजाइन पर भी काम शुरू हो चुका है। टेस्ट फ्लाइट के तौर पर इसके फाइनल मिशन से पहले दो मानवरहित मिशन लांच किए जाएंगे।

इसरो चेयरमैन का कहना है कि पहला मानवरहित मिशन यानी टेस्ट फ्लाइट दिसंबर, 2020 में लांच होगी। दूसरा मानवरहित टेस्ट जुलाई, 2021 में लांच होगा। इसके बाद आखिर में फाइन मिशन यानी ह्यूमन स्पेस फ्लाइट को दिसंबर 2021 में लांच किया जाएगा। 

ट्रेनिंग का काम शुरू

बजट पास होने के बाद क्रू की ट्रेनिंग पर काम शुरू हो चुका है। इसमें जरूरत पड़ने पर विदेशी ट्रेनिंग को भी शामिल किया जा सकता है। क्रू मेंबर का चुनाव इसरो और आईएएफ द्वारा संयुक्त तौर पर किया जाएगा। जिसके बाद उन्हें दो से तीन सालों तक ट्रेनिंग दी जाएगी। इस मिशन के लिए राकेश शर्मा का भी परामर्श लिया जाएगा।   
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00