लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Cong MLA Khan's "Muslims outnumber Vokkaligas" comment stirs controversy in Karnataka

Karnataka: 'वोक्कालिगा से ज्यादा मुस्लिम' बयान पर घिरे विधायक जमीर, कांग्रेस के पत्र पर दी ये प्रतिक्रिया

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, बंगलूरू Published by: Amit Mandal Updated Tue, 26 Jul 2022 04:02 PM IST
सार

ऐसी खबरें हैं कि वोक्कालिगा के एक प्रमुख द्रष्टा निर्मलानंदनाथ स्वामीजी ने इस संबंध में कांग्रेस नेताओं को अपनी नाराजगी से अवगत कराया है। इसे लेकर सियासी घमासान भी शुरू हो गया है। 

जमीर अहमद खान
जमीर अहमद खान - फोटो : ANI
ख़बर सुनें

विस्तार

कर्नाटक कांग्रेस के विधायक जमीर अहमद खान ने कहा कि उन्हें केवल मीडिया के माध्यम से पार्टी द्वारा उन्हें अपने अनुचित और अनावश्यक बयानों के लिए चेतावनी देने के बारे में पता चला है। उन्होंने कहा कि वह यात्रा कर रहे हैं, और बेंगलुरु लौटने के बाद इस पर गौर करेंगे। पार्टी के अनुशासन और विचारधारा के लक्ष्मण रेखा के बारे में याद दिलाते हुए कर्नाटक के प्रभारी एआईसीसी महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने खान को एक पत्र जारी कर कहा है कि उनकी हालिया सार्वजनिक टिप्पणी पूरी तरह से अनुचित और गलत है।



खान ने कहा, मुझे कोई नोटिस नहीं मिला है, मैंने इसे मीडिया में देखा है, यह नोटिस नहीं है बल्कि एक पत्र है। मुझे अब तक कोई नोटिस नहीं मिला है, क्योंकि मैं यात्रा कर रहा हूं। इसे देखे बिना मैं प्रतिक्रिया नहीं दे सकता। मैं दावणगेरे में हूं, बाद में चित्रदुर्ग की यात्रा करूंगा, एक बार जब मैं बेंगलुरु जाऊंगा, तब देखूंगा। यह पूछे जाने पर कि केपीसीसी अध्यक्ष डी के शिवकुमार उनके बारे में कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दे रहे हैं, उन्होंने कहा कि वह अध्यक्ष हैं, बड़े आदमी हैं, मेरे बारे में भला क्या प्रतिक्रिया देंगे। 


बयान पर सामुदायिक राजनीति शुरू 
दरअसल, कांग्रेस नेता और विधायक जमीर अहमद खान की कर्नाटक में मुसलमानों की संख्या वोक्कालिगा से अधिक होने की टिप्पणी ने विवाद पैदा कर दिया है और अब यह सामुदायिक राजनीति का रूप ले रहा है। सत्तारूढ़ भाजपा के वोक्कालिगा नेताओं ने खान की टिप्पणी को राजनीतिक रूप से प्रभावशाली समुदाय का प्रभाव कम करने के प्रयास के रूप में पेश किया।

मामला गंभीर होते देख कांग्रेस नेताओं ने टिप्पणी पर खेद जताते हुए भरपाई की कोशिश की। साथ ही जहीर को चेतावनी पत्र भी जारी किया है। इस पत्र में लिखा है, आपको सार्वजनिक टिप्पणी करते समय भविष्य में सावधान रहने और पार्टी के अनुशासन और विचारधारा का दृढ़ता से पालन करने की चेतावनी दी जाती है।