बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

भारत में आपदा, हिंसा के कारण 28 लाख लोग हुए विस्थापित

amarujala.com- Presented by: संदीप भट्ट Updated Mon, 22 May 2017 10:59 PM IST
विज्ञापन
At Over 28 Lakh, India Has The Third Highest Number Of Internally Displaced People In The World

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
भारत में पिछले साल आपदा और जातीय संघर्ष के कारण करीब 28 लाख लोगों को आंतरिक विस्थापन का दर्द झेलना पड़ा। यह जानकारी नॉर्वेइन रिफ्यूजी काउंसिल की द इंटरनल डिस्प्लेसमेंट मॉनिटरिंग सेंटर की तरफ से जारी रिपोर्ट में दी गई है।
विज्ञापन


रिपोर्ट में आपदा के कारण सबसे अधिक विस्थापन झेलने वाले देशों की सूची में भारत, चीन और फिलीपींस के बाद तीसरे स्थान पर है। रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत में 4.48 लाख लोग हिंसा और संघर्ष के कारण विस्थापित हुए।


करीब 2.40 लाख लोगों को आपदाओं के कारण विस्थापन का दंश झेलना पड़ा। रिपोर्ट के अनुसार, ‘चीन और फिलीपींस के साथ देश में लगातार सबसे अधिक संख्या में विस्थापन देखा जा रहा है। हालिया वर्षों में विस्थापन मुख्यतऱ् बाढ़ एवं तूफानी घटनाओं से संबद्ध रहे।

हालांकि भारत के करीब 68 प्रतिशत क्षेत्र सूखा संभावित, 60 प्रतिशत भूकंप संवेदी और देश के 75 प्रतिशत तटीय हिस्से चक्रवातों एवं सुनामी संभावित क्षेत्र हैं।’

रिपोर्ट के अनुसार, ‘संघर्ष अधिकतर पहचान एवं जातीयता से संबद्ध रहते हैं। क्षेत्रीयता एवं जातीयता आधारित संघर्ष समेत यह हिंसक अलगाववाद तथा पहचान आधारित आंदोलनों के साथ स्थानीय हिंसा का रूप ले लेता है।’
विज्ञापन
आगे पढ़ें

सरदार सरोवर बांध परियोजना से 3.5 लाख लोग विस्थापित

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us