CLAT 2021 Exam: राजनेता जो लॉ की पढ़ाई के बाद बने राजनीति के धुरंधर

विज्ञापन
Vartika Tolani Media Solution Initiative Published by: वर्तिका तोलानी
Updated Tue, 23 Feb 2021 12:09 PM IST
क्लैट परीक्षा 2021
क्लैट परीक्षा 2021 - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

CLAT Entrance Exam 2021: लॉ, वर्तमान समय के बेहतर करियर विकल्पों में से एक है। अच्छे संस्थान से लॉ की पढ़ाई करने के बाद युवा अपने करियर में एक ऊंचा मुकाम हासिल करते हैं। हालांकि लॉ को केवल वकालत से जोड़ कर देखा जाता है। लेकिन वास्तविकता इससे एकदम विपरीत है। लॉ करने के बाद करियर के ढेरों विकल्प खुल जाते हैं। मल्टी नेशनल कंपनियों, लॉ फर्म्स, पत्रकारिता आदि के द्वारा भी अपना नाम रोशन कर सकते हैं। यहां तक कि राजनीति के क्षेत्र में सफल व्यक्ति भी अधिकतर लॉ की पृष्ठिभूमि से होते हैं। ऐसा कहा जाता है कि ‘लॉयर्स आर द लीडर्स’। आज हम ऐसे ही पांच राजनेताओं के बारे में बताएंगे जिन्होंने लॉ की पढ़ाई करने के बाद भारतीय राजनीति में अपनी एक अलग और विशिष्ट पहचान बनाई।

विज्ञापन

सुब्रमण्यम स्वामी

इनके बारे में कौन नहीं जानता। वर्तमान में सांसद अपने तेज तर्रार रवैये व हाजिर जवाबी के लिए मशहूर सुब्रमण्यम स्वामी लॉ के छात्र रह चुके हैं। ये संसद में अपनी बात जोरदार तरीके से तो रखते ही हैं साथ ही कोर्ट में भी अच्छे अच्छे धुरंधरों को मात दे चुके हैं। यहां तक कि ये हार्वर्ड विश्वविद्यालय में लॉ की क्लास भी लेते हैं।

सलमान खुर्शीद

सलमान खुर्शीद, सीनियर एडवोकेट, प्रखर वक्ता व एक लॉ टीचर हैं। इन्होंने साल 1981 में राजनीति में प्रवेश किया। साल 2011 में ये कानून मंत्री भी रह चुके हैं।
 

अरुण जेटली

दिवंगत नेता अरुण जेटली दिल्ली हाई कोर्ट के सीनियर एडवोकेट रह चुके हैं। इन्होंने साल 1977 में दिल्ली विश्वविद्यालय से लॉ की पढ़ाई पूरी की थी। ये भारत के वित्त मंत्री भी रह चुके हैं।
 

पी चिदंबरम

पी चिदंबरम ने अपने वकालत करियर की शुरूआत एक कार्पोरेट लॉयर के रूप में की थी। साल 1984 में ये एक सीनियर लॉयर बन चुके थे। इन्होंने सुप्रीम कोर्ट व हाई कोर्ट में भी वकालत की है। ये देश के गृह मंत्री व वित्त मंत्री के पद पर कार्य कर चुके हैं। इन्होंने लोकसभा में अबतक 7 बार केंद्रीय बजट पेश किया है।


प्रशांत भूषण

अन्ना हजारे के जनलोकपाल आंदोलन के प्रमुख सदस्यों में से एक प्रशांत भूषण भारतीय राजनीति का एक चर्चित चेहरा हैं। ये अपनी जनहित याचिकाओं के कारण अक्सर चर्चा में रहते हैं। हाल ही में ये कोर्ट की अवमानना मामले के कारण भी चर्चा में रहे थे। जिसकी वजह से इनके ऊपर एक रुपए का जुर्माना लगा था।
 

तो देखा आपने कैसे लॉ के क्षेत्र में सफल व्यक्तियों ने राजनीति में भी अपनी अलग पहचान बनाई है। इनके अलावा ढेरों अन्य प्रसिद्ध राजनेता भी हैं जिन्होंने लॉ की पढ़ाई की है। जिसमें से प्रमुख हैं- महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी आदि।
 

लॉ एक बेहद ही आकर्षक करियर प्रदान करता है। बस जरूरत है तो CLAT परीक्षा क्रैक कर एक अच्छे संस्थान से लॉ की पढ़ाई करने की। जिसके लिए Safalta.com लेकर आया है एक बेहद ही खास कोर्स। इस कोर्स के द्वारा लाइव इंटरेक्टिव क्लास के जरिए आपकी तैयारी कराई जाएगी। आपको एक्सपर्ट फैकल्टी का मार्गदर्शन व ढेरों प्रैक्टिस सेट और मॉक टेस्ट प्रदान किए जाएंगे। साथ ही पीडीएफ स्टडी मैटेरियल भी प्रदान किया जाएगा। तो फिर देर किस बात की आज ही जुड़ें Safalta.com से और शुरू करें CLAT परीक्षा की पक्की तैयारी। आपको बता दें कि इस कोर्स के नए बैच 26 फरवरी से शुरू हो रहे हैं।
 

इस कोर्स के बारे में अधिक जानकारी के लिए विजिट करें- http://bit.ly/safalta-clat2021


या अभी भरें ये फॉर्मhttp://bit.ly/form-clat202

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X