विज्ञापन

टाट के बिस्तर पर गहरी नींद

शिवकुमार गोयल Updated Thu, 28 Mar 2013 09:59 PM IST
विज्ञापन
sleeping on sackcloth bed
ख़बर सुनें
एक साधु ने अपने लिए एक भव्य आश्रम बनाया। आश्रम के रख-रखाव के लिए धन की जरूरत थी, इसलिए अपने शिष्यों के साथ धन जुटाने निकल पड़े। उनका सोचना था कि धनी सेठों एवं राजाओं से धन प्राप्त होने पर वह सुखपूर्वक जीवन व्यतीत कर सकेंगे।
विज्ञापन
रास्ते में चलते-चलते रात हो गई, तो वह चर्चित सूफी संत राबिया की कुटिया में पहुंचे। साधु एवं उनके शिष्यों को ससम्मान खाना खिला, सोने की व्यवस्था कर संत राबिया स्वयं एक टाट बिछाकर लेट गईं। उन्होंने साधु को तो सोने के लिए तकिया दिया, लेकिन खुद सिर के नीचे एक ईंट रख ली।

साधु ने देखा कि कुछ ही देर में राबिया को नींद आ गई। साधु गद्दे पर सोने के आदी थे, इसलिए दरी पर उन्हें नींद नहीं आई। वह हैरान थे कि आखिरकार राबिया टाट पर गहरी नींद में कैसे सो रही हैं! सूर्योदय से पूर्व ही राबिया जगीं और अल्लाह का नाम लेकर कुटिया की सफाई में जुट गईं।

फिर वह कुटिया में पलने वाली चिड़िया एवं अन्य पशुओं को दाना डालकर आनंद का अनुभव करने लगीं। साधु समझ गए कि राबिया की गहरी नींद और उनके आनंद का कारण सादगीपूर्ण जीवन तथा भौतिक सुख-साधनों के प्रति विरक्ति है। उन्होंने उसी समय से अपने आश्रम को त्याग दिया और एक छोटी-सी कुटिया में रहने लगे। कुछ ही दिनों में वह भी संत राबिया की तरह संतोष तथा साधना का अनुभव करने लगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us