विज्ञापन
विज्ञापन

आलू की भी कोई इज्जत है

सुधाकर आशावादी Updated Tue, 04 Nov 2014 07:41 PM IST
Potato have respect too
ख़बर सुनें
सब्जी मंडी के ग्राहक हमेशा प्याज और टमाटर के ही नखरे क्यों सहें? आखिर आलू की भी कोई इज्जत है! जब देखो, लोग मुझे कम करके आंकते रहते हैं। मेरी मार्केट वैल्यू इतनी गिरा दी गई कि कोई चीज बहुतायत में उपलब्ध होने पर उसे आलू बता दिया जाता है। कभी मुझे सड़कों पर फेंक दिया जाता है। कभी किसान खेतों के किनारे मुझे फेंककर चले जाते हैं। मैं अपने दुर्भाग्य पर रोता रहता हूं।
विज्ञापन
मेरे साथ शुरू से ही भेदभाव होता रहा है। मेरे दाम बढ़ने पर समोसे के दाम बढ़ जाते हैं। लेकिन मेरे भाव घटने पर समोसे के दाम नहीं घटते। हमें उपजाने वाला किसान मार्केटिंग के मंत्र जो नहीं जानता। चिप्स मुझसे ही बनता है, लेकिन वह कितना अपमार्केट है और मैं कितना डाउनमार्केट! क्या मेरा कोई भाव नहीं है? मैं सोचता ही रहता था कि काश, मेरे भी अच्छे दिन आएं। वह दिन आ गया है। अब विदेशों से आलू आयात की बात की जा रही है। आम आदमी की पहुंच से दूर होकर अब मैं भी वीआईपी बनने की राह पर हूं।

अब ढूंढो मुझे अपनी रसोई में! मटर की चाट अब मेरे अभाव में अपने जायकेदार स्वाद से भटक चुकी है। समोसे का तो खैर मेरे बगैर कोई वजूद ही नहीं है। कई लोग मेरे साथ अपना नाम जोड़कर प्रसिद्ध हो जाना चाहते थे। वे कहते थे, जब तक रहेगा समोसे में आलू, तब तक रहेंगे वे भी चालू। समोसे में आलू तो रहा, मगर वह चालू नहीं रह सके। उनकी लालटेन बुझने-बुझने को है। उन्हें पता चल रहा होगा कि किसी का मजाक उड़ाना कितना नुकसानदेह हो सकता है। मैं सिर्फ समोसे का आलू नहीं, आम आदमी की थाली का आलू हूं।

गरीब मजदूर डबल रोटी के चार पीस में गरमा-गरम दो समोसे भरकर कई बार अपना लंच कार्यक्रम संपन्न कर लिया करता था। अब मैं उसकी पहुंच से दूर हो चुका हूं। आलू महंगा होने के कारण मजदूर लोग अब मिर्च और प्याज पर भरोसा करेंगे। पर इसमें मेरा क्या कुसूर है? मेरी भी कोई कीमत है। आलू कहकर चिढ़ाने वाले सुन लें-मैं किसी से कम नहीं।
विज्ञापन

Recommended

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके
सब कुशल मंगल

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

मृत्युदंड और एनकाउंटर से नहीं

मृत्युदंड का भय दिखाकर लोगों को अपराध करने से रोका नहीं जा सकता, तो पुलिस एनकाउंटर गणतंत्र को ताक पर रखे जाने का सुबूत है। पुरुषों को जिम्मेदार नागरिक बनाकर ही यौन हिंसा को रोका जा सकता है।

8 दिसंबर 2019

विज्ञापन

Delhi Fire: फायरमैन राजेश शुक्ला बोले, ‘सही सूचना मिलती तो और भी जानें बच जाती’

दिल्ली आग हादसे के हीरो राजेश शुक्ला ने कहा की अगर हमें सही सूचना मिलती तो और भी जानें बचा सकते थे।

8 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election