विज्ञापन
विज्ञापन

अंतर्ध्वनि : मानव के पास खुद को गढ़ने का अपरिहार्य अधिकार है

जर्मेन ग्रीयर Updated Wed, 17 Jul 2019 07:17 AM IST
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
ख़बर सुनें
पढ़ना मेरी पहली एकमात्र बुरी आदत थी और उससे अन्य सब अवगुण आए। मैंने खाते वक्त पढ़ा, स्नानघर में पढ़ा। जब मुझे सोना चाहिए था, मैं पढ़ रही थी। समाज की दी हुई छवि के बजाय अपनी छवि गढ़ने का निर्णय लेने के लिए बहुत साहस और स्वतंत्रता की जरूरत है, लेकिन जैसे-जैसे आप आगे बढ़ते जाते हैं, यह आसान हो जाता है। मानव के पास खुद को गढ़ने का अपरिहार्य अधिकार है। आप केवल एक बार युवा होते हैं, लेकिन हमेशा के लिए अपरिपक्व बने रह सकते हैं। 
विज्ञापन
हर स्त्री जानती है कि उसकी अन्य सभी उपलब्धियों के बावजूद, अगर वह सुंदर नहीं है तो विफल है। उदासी से बोध और व्यंग्य उत्पन्न होते हैं; उदासी असहज और अप्रिय है, इसीलिए उपभोक्ता समाज इसे बर्दाश्त नहीं कर सकता है। सुरक्षा जीवन का नकार है। अगर स्त्री कभी खुद को मुक्त नहीं करती है, तब वह कैसे जान पाएगी कि उसे कितनी दूर तक जाना है? 

अगर वह अपने ऊंची एड़ी के जूते कभी नहीं उतारेगी, तो वह कैसे जान पाएगी कि वह कितनी दूर चल सती है या कितनी तेजी से दौड़ सकती है? स्त्री की क्षमता को उसके द्वारा किसी पुरुष को आकर्षित करने और फुसलाने की क्षमता से नहीं मापा जाना चाहिए। 

एक गृहिणी के काम का कोई महत्व नहीं होता है : उस काम को बस फिर से करना होता है। बच्चों को पालना कोई वास्तविक पेशा नहीं है, क्योंकि बच्चे एक ही तरीके से बड़े होते हैं, चाहे उनका पालन-पोषण किया जाए या नहीं। 

मुझे लगता है कि वे पुरुष जो स्त्रियों के प्रति व्यक्तिगत रूप से सबसे अधिक विनम्र हैं, जो उन्हें देवदूत कहते हैं, वे गुप्त रूप से स्त्रियों का सबसे अधिक तिरस्कार करते हैं। स्वतंत्रता भयानक है, लेकिन वह प्राण-पोषक भी है। झूठ घृणित है और उसका अपना स्वयं का विकराल जीवन है। वह अपने चारों ओर फैली सच्चाई को दूषित कर देता है। आनंद का सार सहजता है।

-ऑस्ट्रेलिया की स्त्रीवादी लेखिका और विचारक।
 
विज्ञापन

Recommended

बनाएं डिजिटल मीडिया में करियर, कोर्स के बाद प्लेसमेंट का भी मौका
TAMS

बनाएं डिजिटल मीडिया में करियर, कोर्स के बाद प्लेसमेंट का भी मौका

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019
Astrology Services

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Literature

अंतर्ध्वनि : जीवंत रचना के लिए वैचारिक प्रतिबद्धता आवश्यक शर्त नहीं है

जीवन की मौजूदा स्थितियों ने अब तक अतीत के चिह्नों को मिटाया नहीं है। हम बहुत तेजी से दौड़ते हैं, फिर भी कहीं पहुंचते नहीं। नया मनुष्य एक प्रयोगात्मक अवस्था में है।

20 अगस्त 2019

विज्ञापन

इमरान के बॉस कमर जावेद बाजवा का कार्यकाल तीन साल बढ़ा

भारत के कड़े रुख से पाकिस्तान घबरा गया है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा का कार्यकाल बढ़ा दिया है।

19 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree