विज्ञापन

नाटकीय कला में एक सच जैसी कोई चीज नहीं होती है

हैरल्ड पिंटर Updated Fri, 13 Jul 2018 04:41 PM IST
फाइल फोटो
फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें
वास्तविक और काल्पनिक के बीच बहुत ज्यादा अंतर नहीं है और न ही सच और झूठ के बीच है। कोई भी चीज जरूरी नहीं कि या तो सच हो या झूठ हो, यह झूठ और सच, दोनों हो सकती है। मेरा मानना है कि मेरा यह दावा कला के माध्यम से वास्तविकता की खोज पर भी लागू होता है।
विज्ञापन
इसलिए एक लेखक के नाते मैं इसके साथ खड़ा हो सकता हूं, लेकिन एक नागरिक के रूप में नहीं। एक नागरिक के रूप में मुझे यह अवश्य पूछना चाहिए कि सच क्या और झूठ क्या? नाटक में सत्य हमेशा के लिए छिपा होता है। आप इसे कभी नहीं पाते हैं, लेकिन इसकी खोज हमेशा बाध्यकारी है।

इसकी खोज स्पष्ट रूप से प्रयास को प्रेरित करती है। खोजना आपका काम है। अक्सर आप अंधेरे में सच से चोट नहीं खाते हैं, इसके साथ टकराते हैं या एक छवि की झलक मिलती है, जो सच के अनुरूप लगती है।

लेकिन असली सच्चाई यह है कि नाटकीय कला में एक सच जैसी कोई चीज कभी नहीं होती है। नाटक में कई सच होते हैं, वे सच एक-दूसरे को चुनौती देते हैं, एक-दूसरे से टकराते हैं, एक-दूसरे को प्रतिबिंबित करते हैं, एक-दूसरे की अनदेखी करते हैं और एक-दूसरे के प्रति अंधे होते हैं। कभी-कभी आपको लगता है कि आपके हाथ में सच है, लेकिन यह उंगलियों से फिसलकर खो जाता है।

मुझसे अक्सर पूछा जाता है कि मेरे नाटक कैसे आते हैं। लेकिन मैं कुछ कह नहीं सकता। न ही मैं अपने नाटक के बारे में संक्षिप्त विवरण दे सकता हूं, सिवाय इसके कि क्या हुआ। मेरे अधिकांश नाटक एक रेखा, एक शब्द या एक छवि से पैदा होते हैं। दिए हुए शब्द अक्सर तुरंत छवि का अनुकरण करते हैं।
-नोबेलजयी ब्रिटिश नाटककार

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Opinion

भुला दिए गए भारतीय योद्धा

भारतीय सैनिकों की विपुल संख्या, जितने मोर्चों पर वे लड़े और जितनी कठिनाइयां उन्होंने झेली, इन सबको देखते हुए उनके योगदान की उपेक्षा करके उस महायुद्ध का कोई भी विवरण पूरा नहीं हो सकता।

13 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' का चीन में चमकना तय

अभिनेता aamir khan की लोकप्रियता जितनी देश में है उतनी ही विदेशों में भी है। हाल ही में रिलीज हुई उनकी फिल्म thugs of hindostan इसका ताजा उदाहरण है।

14 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree