विज्ञापन
विज्ञापन

विश्व डाक दिवस 2019 : आपके घर में आखिरी चिट्ठी कब आई थी?

Devendra Sutharदेवेंद्र सुथार Updated Wed, 09 Oct 2019 01:26 PM IST
याद है मां का दरवाजे पर टकटकी लगाए देखना, साइकिल पर थैला लगाए डाकिया अंकल का इंतजार
याद है मां का दरवाजे पर टकटकी लगाए देखना, साइकिल पर थैला लगाए डाकिया अंकल का इंतजार - फोटो : pixabay
ख़बर सुनें
क्या खता हुई हमसे की खत का आना बंद है, 
विज्ञापन
आप हैं हमसे खफा या, डाक-खाना बंद है !!


उम्मीद है कि आप खुश होंगे! प्रेम में महक कर मुश्क होंगे। वैसे यहां सब कुशल है। बस आपकी दुआओं का फल है। जी हां, कुछ ऐसी ही पंक्तियों के साथ चिट्ठी लिखने का श्रीगणेश होता था। वह दौर जब चिट्ठियां लोगों की भावनाओं से जुड़ी हुईं थीं, बातचीत का जरिया सिर्फ चिट्ठियां हुआ करती थीं। याद है मां का दरवाजे पर टकटकी लगाए देखना, साइकिल पर थैला लगाए डाकिया अंकल का इंतजार, वो कत्थई थैले में सैकड़ों के ढेर में किसी अपने का अहसास।

सीमा पर देश की रक्षा कर रहे जवानों के लिए जीने का जरिया। ये चिट्ठी बड़ी कमाल की चीज है। पैगाम अपनों का, अहसास अपनों का। अपनों के दिल का हाल बताने वाली चिट्ठी। वह चिट्ठी जिसे पढ़कर चेहरे पर मुस्कान आ जाए। वह चिट्ठी जो दूर बैठे अपनों का अहसास दिलाती है। वह चिट्ठी जो जरिया बनी दिलों को जोड़ने का। आज का ये दौर जब कागजों के ढेर में भी उस भावना, उस अहसास को ढूंढ़ नहीं पाता। अगर आपसे पूछा जाए कि आखिरी बार आपको चिट्ठी कब मिली थी? मामा, चाचा या बुआ, दीदी या दूर के रिश्तेदारों की आखिरी चिट्ठी कब आई थी? तो यकीकन आप कुछ देर के लिए सोच में पड़ जाएंगे ! और पूछेंगे कि आज के जमाने में चिट्ठी लिखता कौन है? 
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

बलूचिस्तान से उठती आवाजें, मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन पर उठती आजादी की मांग

भारत को बलूचियों, सिंधियों व पख्तूनों पर पाकिस्तानी सेना व आईएसआई द्वारा ढाये जा रहे अत्याचारों को एक गंभीर मानवीय समस्या समझते हुए अंतरराष्ट्रीय मंचों पर विश्व के सामने लाना चाहिए। इससे कश्मीर पर पाकिस्तान के झूठ की पोल भी खुल जाएगी।

23 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

Chandrayaan 2: खुल गया चांद पर दाग का राज, इसरो ने किया खुलासा

चांद पर दाग क्यों है ये राज चंद्रयान 2 ने खोल दिया है। चंद्रयान 2 के ऑर्बिटर ने जो तस्वीरें भेजी हैं उन तस्वीरों में चांद पर गड्ढे साफ दिखाई दे रहे हैं। इन्हीं की वजह से चांद पर दाग दिखाई देता है।

23 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree