विज्ञापन
विज्ञापन

मोबाइल पर पूरी दुनिया की जानकारी रखने वालों, पड़ोसी का दरवाजा खटखटाइए,वो मर तो नहीं गया

Sanjiv Pandeyसंजीव पांडेय Updated Sat, 15 Jun 2019 07:06 PM IST
दिल्ली में बुजुर्ग भाई-बहन की मौत ने समाज के गिरते मूल्यों की तरफ इशारा किया है।
दिल्ली में बुजुर्ग भाई-बहन की मौत ने समाज के गिरते मूल्यों की तरफ इशारा किया है। - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें

दिल्ली में बुजुर्ग भाई-बहन की मौत ने समाज के गिरते मूल्यों की तरफ इशारा किया है। बीमारी, लाचारी और अनदेखी से भाई बहन की मौत हो गई। लेकिन न तो परिवार नजदीक था, न समाज। महानगरीय जीवन में अकेलापन इस हदतक है कि परिवार दूर हो गया है।  भारत में यह पहली घटना नहीं है। हालांकि भारत जैसे देश में इस तरह की घटना सामान्य भी नहीं मान सकते हैं, क्योंकि अभी भी समाज पश्चिमी मूल्यों की बजाए भारतीय मूल्यों को ज्यादा तरजीह देता है। लेकिन अब तो भारत में भी इस तरह की खबरें अखबारों की सुर्खियां बन रही है जिसमें अकेले रहने वाले बुजुर्ग की सुध तब आती है जब उनके कमरे से उठने वाली बदबु आसपास के लोगों तक पहुंचे।

विज्ञापन
दिल्ली की यह घटना दिल झकझोर देती है। पड़ोसी बेखबर रहे। दिल्ली में बुजुर्ग चमनलाल और उनकी छोटी बहन राजकुमारी की मौत यही दिखाती है। 95 वर्ष के चमनलाल अपनी 80 वर्षीय छोटी बहन राजकुमारी देवी के साथ राणा प्रताप बाग इलाके में रहते थे। उनकी देखभाल उनकी बुजुर्ग हो चुकी बहन ही करती थी। अनुमान लगाया जा रहा है कि पहले बहन की मौत हो गई और उसके बाद भूख प्यास से लाचार भाई की मौत हो गई।

इन घटनाओं को किस चश्मे से देखेगा समाज 
राजकुमारी और चमन लाल की मौत भारत में इस तरह की पहली मौत नहीं हुई। अगस्त 2017 में एक आईटी प्रोफेशनल लड़के की मां मुंबई में अपने आलीशान फ्लैट में मृत पाई गई थी। बेटा अमेरिका में नौकरी करता था। एक साल बाद जैसे ही वो कमरे में आया, उसे हृदय विदारक दृश्य देखने को मिला। क्योंकि सामने उसकी मां का कंकाल था। मां की चार महीनें पहले मौत हो गई थी। किसी को पता भी नहीं चला था।

सितंबर 2017 में गुजरात के राजकोट  में संपन्न बेटे संदीप नाथवाणी ने अपनी बीमार मां जयश्रीबेन की सेवा से तंग आकर उन्हें चौथी मंजिल से धक्का देकर फेंक दिया था। अपराधी बेटा संदीप राजकोट के मेडकिल कॉलेज में असिसटेंट प्रोफेसर के तौर पर कार्यरत था।

विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था
Dolphin PG

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Blog

भाजपा में जाने की चर्चाओं को लेकर आखिर क्यों चुप हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया?

मप्र की सियासत में इस समय ज्योतिरादित्य सिंधिया चर्चा का केंद्रीय विषय बने हुए हैं क्योंकि उन्हें लेकर पिछले एक सप्ताह से सोशल मीडिया पर खबरें वायरल हो रही हैं

21 अगस्त 2019

विज्ञापन

कई घंटे के ड्रामें के बाद सीबीआई ने पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया

आखिरकार सीबीआई ने पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर ही लिया। देखिए ये रिपोर्ट

21 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree