विज्ञापन
विज्ञापन

अंतरराष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस: छलावे और सत्ता की मशीनरी के बीच दुनिया में लोकतंत्र की यात्रा

Ajay Khemariyaअजय खेमरिया Updated Sun, 15 Sep 2019 11:27 AM IST
पूरी दुनिया में 15 सितंबर को लोकतंत्र दिवस मनाया जाता है।
पूरी दुनिया में 15 सितंबर को लोकतंत्र दिवस मनाया जाता है। - फोटो : Pixabay
ख़बर सुनें
पूरी दुनिया में 15 सितंबर को लोकतंत्र दिवस मनाया जाता है। इस आयोजन का मूल उद्देश्य इस बेहतरीन जीवन और सुशासन पद्धति को दुनिया में अंतिम छोर तक स्थापित करने का आह्वान है। लोकतंत्र का आधुनिक स्वरूप आज चुनाव प्रक्रिया और उसके  लोकतांत्रिक प्रावधानों के आधार पर निर्धारित होता है।
विज्ञापन
किस देश मे किस शासन व्यवस्था को अंगीकार किया गया है यह उसकी चुनाव प्रक्रिया से ही पता चलता है। मसलन ब्रिटेन, यूएसए, भारत, तीनों में लोकतंत्र है लेकिन बड़ी बुनियादी विभिन्नता के साथ। यूके यानी इंग्लैंड में राजशाही के महीन आवरण में छिपा लोकतंत्र है जो बंकिघम पैलेस के अपने शाही क्राउन (राजमुकुट) को  हर स्थिति में जीवित रखना चाहता है।

दुनिया भर में लोकशाही के नाम से दारोगाई करने वाले अमेरिका में अध्यक्ष प्रणाली वाला लोकतंत्र है जहां जनता एक इलेक्ट्रॉलर के जरिये राष्ट्रपति को चुनती है। भारत के लोकतंत्र को हम दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र इस अर्थ में तो कह ही सकते हैं कि एक साथ 60 करोड़ वोटर अपने वोटिंग राइट का इस्तेमाल कर सरकार चुनते हैं। वैसे दुनिया मे अप्रत्यक्ष लोकतांत्रिक व्यवस्था ही व्यवहारिक है लेकिन स्विटरजरलैंड एक ऐसा देश भी है जहां प्रत्यक्ष लोकतंत्र के दर्शन होते हैं, वहां कुछ केंटनो में राज्य की नीतियां जनता के मतानुसार निर्धारित की जाती है। इसे आप रेफरेंडम कह सकते है। यानी जनमत संग्रह।

लेकिन यह बड़े राज्यों में संभव नही है। प्रसिद्ध विचारक अब्राहम लिंकन ने लोकतंत्र की विश्वविख्यात परिभाषा दी थी।"लोकतंत्र जनता का जनता द्वारा जनता के लिये किया जाने वाला शासन है" अगर इस परिभाषा के आलोक में आज के वैश्विक लोकतांत्रिक परिदृश्य का ईमानदारी के साथ आंकलन किया जाए तो लोकतंत्र के प्रति हमारी अवधारणा हिल सकती है।क्योंकि न केवल भारत बल्कि दुनिया के किसी मुल्क में लोकतंत्र उसकी अंतर्निहित अवधारणा पर काम नहीं कर पा रहा है ,अधिकतर देशों में जम्हूरियत का आवरण है और सिर्फ चुनावी उपक्रम से ज्यादा महत्व लोकतांत्रिक व्यवस्था को हांसिल नही है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Blog

हरियाणा चुनाव 2019ः किन इलाकों में किन मुद्दों पर आमने-सामने है भाजपा-कांग्रेस?

2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम और राष्ट्रवादी चुनावी मुद्दों की भारी जीत ने विश्लेषकों को चुप करा दिया है। कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं है, क्योंकि नरेंद्र मोदी के चुनावी करिश्मा से सारे डरते हैं।

19 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

सेना प्रमुख बिपिन रावत का बयान, FATF की ब्लैकलिस्ट की चेतावनी के बाद भारी दबाव में है पाकिस्तान

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि वित्तीय कार्रवाई कार्यबल यानि फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की चेतावनी से पाकिस्तान पर दबाव बढ़ेगा और वो आतंकवादी गतिविधियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए मजबूर होगा।

19 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree