जरूरी खबर: नहीं चलेंगे 2005 से पहले के नोट

ब्यूरो/अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 25 Jan 2014 01:00 PM IST
RBI to withdraw all pre 2005 currency notes
बाजार में जाली नोट पर लगाम कसने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने साल 2005 से पहले के नोट वापस लेने का फैसला किया है।

रिजर्व बैंक ने कहा है कि लोग साल 2005 से पहले जारी किए गए नोट को अप्रैल 2014 से बैंक में बदलना शुरू कर दें।

इसके तहत कोई भी व्यक्ति नोट को किसी भी बैंक में जाकर बदल सकता है। इसके लिए बैंक में खाता होना जरूरी नहीं है।

पुराने नोट की पहचान आसानी से की जा सकेगी। नोट के पीछे निचले हिस्से पर बीच में साल अंकित होता है।

जिन नोट पर वर्ष अंकित नहीं है, वे नोट साल 2005 से पहले के हैं। ये नोट किसी भी बैंक में जाकर एक अप्रैल से बदले जा सकते हैं।

नियम सख्त
हालांकि, रिजर्व बैंक ने 30 जून 2014 के बाद पुराने नोट बदलने वाले लोगों के लिए नियम सख्त कर दिया है।

इसके तहत यदि कोई व्यक्ति किसी ऐसे बैंक में नोट बदलना चाहता है, जहां उसका खाता नहीं है, तो उसे 500 और 1000 रुपये के 10 से ज्यादा नोट बदलने पर अपना पहचान और निवास स्थान का प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य होगा।

रिजर्व बैंक ने साथ ही लोगों से अपील की है कि उन्हें इस प्रक्रिया के तहत घबराने की जरूरत नहीं है। बैंक एक अप्रैल से नोट बदलने की प्रक्रिया शुरू कर देंगे।

कैसे होगी पहचान
पुराने नोट की पहचान आसानी से की जा सकती है क्योंकि 2005 से पहले जारी नोटों के पिछले भाग पर मुद्रण वर्ष अंकित नहीं है। जबकि 2005 के बाद जारी सभी नोटों पर नीचे की तरफ छोटे अक्षरों में मुद्रण वर्ष अंकित है।

हड़बड़ी की जरूरत नहीं
रिजर्व बैंक ने यह भी साफ किया है कि वर्ष 2005 से पहले जारी सभी नोट वैध बने रहेंगे। इसलिए हड़बड़ाहट या अफरा तफरी का माहौल बनाने की जरूरत नहीं है।

1 अप्रैल के बाद पुराने नोटों को किसी भी बैंक से बदला जा सकेगा, जबकि 1 जुलाई के बाद 500 और एक हजार के 10 से अधिक नोट को बदलने के लिए लोगों को बैंक के समक्ष पहचान और आवास के प्रमाण दिखाना होगा।

क्या है मकसद
रिजर्व बैंक के इस कदम से वह काला धन भी बाहर आ जाएगा, जो लोगों ने नकदी के तौर पर छिपा कर रखा है।

इसके अलावा नकली नोटों के प्रचलन पर भी लगाम लगाने में मदद मिलेगी क्योंकि 2005 के बाद जारी नोटों में ज्यादा सुरक्षा चिह्न हैं।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Business News in Hindi related to stock exchange, sensex news, finance, breaking news from share market news in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Business and more Hindi News.

Spotlight

Most Read

Personal Finance

नकद लेन-देन की संख्या पर लगेगी लगाम, बजट में सरकार कर सकती है बड़ी घोषणा

कैशलेस इकोनॉमी के सपने को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार अब नकद लेनदेन को पूरी तरह से खत्म करने की योजना पर काम कर रही है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्थडे पर जानें 1 रुपये का इतिहास, आज हुआ 100 साल का...

30 नवंबर 1917 को तब की अंग्रेज सरकार ने एक रुपये के नोट का देश में प्रचलन शुरू किया था।

30 नवंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls