विज्ञापन

आपकी कल्पना को खूबसूरत एनिमेशन फिल्म में बदल देगा ये रोबोट

बिजार डेस्क, अमर उजाला Updated Sat, 20 Jan 2018 09:55 PM IST
robot will turn your imagination into a beautiful animation film
विज्ञापन
ख़बर सुनें
एक रोबोटिक कलाकार आपकी कल्पना को खूबसूरत तस्वीर में बदलने को तैयार है। माइक्रोसॉफ्ट ने एक ऐसा एआई (आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस) सॉफ्टवेयर विकसित किया है, जो साधारण लिखित जानकारी के आधार पर रंगीन तस्वीरें बना देता है।
विज्ञापन
माइक्रोसॉफ्ट के मुताबिक यह रोबोट सिर्फ निर्देश पर नहीं चलता है, बल्कि इसमें कृत्रिम कल्पनाशील भी है। दावा है कि भविष्य में इस तकनीक की मदद से बस स्क्रिप्ट लिखते ही पूरी एनिमेशन फिल्म बनकर तैयार हो जाएगी। 

माइक्रोसॉफ्ट के मुताबिक यह रोबोट बेहद साधारण दृश्यों से कई प्रकार की तस्वीरें बना सकता है। जैसे, डाल पर बैठी चिड़िया और पानी में तैरती डबल डेकर बस। वाशिंगटन स्थित माइक्रोसाफ्ट के डीप लर्निंग तकनीकी सेंटर के शोधकर्ता जियोडांग हि के मुताबिक अगर आप बिंग जैसे सर्च इंजन पर जाते हैं तो आपको चिड़िया की तस्वीर मिल जाएगी।

पर यहां कंप्यूटर से पिक्सल दर पिक्सल तस्वीर बनती है। इससे ऐसी चिड़िया की तस्वीर भी बन सकती है, जो हकीकत में हो ही न क्योंकि इससे बनने वाली तस्वीर यह यूजर के दिए गए निर्देश और एआई की कल्पना पर आधारित होती है।

शब्दों से बनती तस्वीर
एआई को हजारों तस्वीरों और उनके कैप्शन के जरिए ट्रेनिंग दी गई है। इसमें यूजर जिन शब्दों की जानकारी देंगे, वैसी तस्वीर बनेगी। जैसे यूजर अगर बोलेंगे, झील में तैरती लाल डबल डेकर बस, तो इसकी तस्वीर बन जाएगी।   

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Bizarre News in Hindi related to Weird News - Bizarre, Strange Stories, Odd and funny stories in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Bizarre and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

मरने से पहले दिमाग करता है यह काम

मौत के वक्त किसी के दिमाग में क्या होता है? किसी को इस बारे में सटीक जानकारी नहीं है। वैज्ञानिकों को कुछ जानकारी जरूर है। हाल ही में कुछ वैज्ञानिकों ने एक ऐसा अध्ययन किया है जिससे मौत के तंत्रिका-विज्ञान के बारे में दिलचस्प जानकारियां मिली हैं।

3 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree