एलन मस्क बोले, ज्यादा इंपोर्ट ड्यूटी से भारतीय नहीं खरीद पाएंगे Tesla की इलेक्ट्रिक कारें

ऑटो डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 02 Aug 2019 06:19 PM IST
विज्ञापन
elon musk
elon musk

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
टेस्ला के सीईओ एलन मस्क हमेशा से ही टेस्ला इलेक्ट्रिक कारों की भारत में लॉन्चिंग की बात करते हैं। हाल में आईआईटी मद्रास के छात्रों के साथ एक संवाद में उन्होंने कहा था कि वे 2020 में भारत में कारें लॉन्च करेंगे। अब मस्क का कहना है कि इंपोर्ट ड्यूटी ज्यादा होने से टेस्ला की इलेक्ट्रिक कारें लोगों की पहुंच से बाहर रहेंगी।

ट्वीट पर दिया जवाब

हालांकि टेस्ला के सीईओ अकसर अपनी कंपनी की उपलब्धियों के बारे में ट्विटर पर बताते रहते हैं। लेकिन जब किसी ने उनसे सवाल पूछा कि टेस्ला भारत में कब एंट्री करेगी, तो एलन मस्क का जवाब था कि मुझे बताया गया है कि भारत में इलेक्ट्रिक कारों पर इंपोर्ट ड्यूटी बहुत ज्यादा है, जो 100 फीसदी तक है। इसके चलते हमारी कारें बेहद महंगी हो जाएंगी और लोगों की पहुंच से बाहर होंगी।
विज्ञापन

 

एंट्री लेवल कार मॉडल 3

टेस्ला इलेक्ट्रिक व्हीकल फिलहाल मॉडल 3, मॉडल एस और मॉडल एक्स बना रही है। वहीं टेस्ला की एंट्री लेवल कार मॉडल 3 है, जो तीन ट्रिम्स स्टैंडर्ड प्लस, लॉन्ग रेंज और परफॉरमेंस में मिलती है। इनमें स्टैंडर्ड प्लस की कीमत 38,990 डॉलर, लॉन्ग रेंज की कीमत 47,990 डॉलर और परफॉरमेंस की कीमत 54,990 डॉलर है।

क्रेश टेस्ट में पांच स्टार रेटिंग

ANCAP सेफ्टी रेटिंग में मॉडल 3 को पांच स्टार रेटिंग मिली है, जबकि यूरो NCAP क्रेश टेस्ट में भी इसे फाइव स्टार रेटिंग मिली है। वहीं एक दूसरे ट्वीट में मस्क ने कहा कि वे अन्य देशों के लिए वहां की स्थानीय फैक्टरी के जरिए पहले ही कारें बना कर हिस्सों में भुगतान करते हैं, जिससे मांग के बारे में भी पता चलता है। लेकिन भारत में मौजूदा नियम ऐसा करने से रोकते हैं, लेकिन हाल में सेल्स टैक्स में हुए बदलावों से कुछ उम्मीद जगी है।
 

टेस्ला के शुरुआती मॉडल की कीमत 20 से 25 लाख के बीच

हालांकि ज्यादा टैक्स ड्यूटी के चलते फिलहाल टेस्ला कारों के भारत में आने पर संशय है। खबरों के मुताबिक अगर किसी कार की कीमत 27 लाख रुपये से ज्यादा है, तो उस पर 100 फीसदी की इंपोर्ट ड्यूटी लगाई जाएगी। वहीं इससे कम कीमत वाली कारों पर 60 फीसदी की इंपोर्ट ड्यूटी लगेगी। टेस्ला के सबसे शुरुआती मॉडल की कीमत तकरीबन 20 से 25 लाख के बीच है, वहीं 60 फीसदी की इंपोर्ट ड्यूटी लगने के बाद भारत में इसकी कीमत आसमान को छुएंगी।     

इनकम टैक्स में 1.5 लाख तक की छूट

भारत सरकार की भी कोशिश है कि देश को इलेक्ट्रिक कारों का हब बनाया जाए। इसके लिए सरकार ने बजट में इलेक्ट्रिक कार पर लिए लोन के ब्याज पर इनकम टैक्स में 1.5 लाख तक की छूट देने का एलान किया है। साथ ही, हाल ही में सपंन्न हुई जीएसटी की बैठक में सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों पर जीएसटी रेट 12 फीसदी से घटा कर 5 फीसदी भी किया है, जिसका एलान वित्त मंत्री ने बजट में किया था।
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X