अमीनों की कलम बंद हड़ताल शुरू

Hamirpur Updated Tue, 08 May 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। राजस्व संग्रह अमीन संघ के जिलाध्यक्ष पर हमले के आरोपी की गिरफ्तारी न होने से संघ ने सोमवार से कलमबंद हड़ताल शुरू कर दी। हड़ताल में सभी पदाधिकारी व सदस्य शामिल रहे।
तहसील क्षेत्र के बदनपुर गांव में अमीन संघ के जिलाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह भदौरिया पर उस समय प्राणघातक हमला किया गया जब वह 2 मई को बकाएदारी वसूलने गांव गए थे। तभी गांव निवासी बकाएदार रामबरन ने जिलाध्यक्ष के साथ अभद्रता करते हुए हमला किया और कागजात फाड़ डाले जिसकी रिपोर्ट थाना कोतवाली में दर्ज कराई गई लेकिन पुलिस द्वारा अभी तक आरोपी की गिरफ्तारी न करने से अमीन संघ आक्रोशित है। सोमवार को अमीन संघ ने कलमबंद हड़ताल शुरू कर दी। इस मौके पर तहसील अध्यक्ष जगदीश दीक्षित ने कहा कि संघर्ष के इस आंदोलन में न्यायिक लड़ाई को आखिरी मंजिल तक पहुंचाया जाएगा। इस मौके पर संघ के महामंत्री संजीव कुमार, अरूण कुमार मिश्रा, जयकरन सचान, परमानंद यादव, विक्रम सिंह, अब्दुल, संतोष बाजपेई, राजीव सिंह आदि मौजूद रहे। उधर अमीर संघ के साथ राजस्व संग्रह चपरासी भी अमीन संघ की इस लड़ाई में कूद पड़ा है। चपरासी संघ के अध्यक्ष छोटे खां मंसूरी ने आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की है। इस मौके पर संघ के महामंत्री संजीव कुमार शिवहरे सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। राठ प्रतिनिधि के अनुसार हमले के विरोध में तहसील परिसर में अमीनों का धरना तीसरे दिन भी जारी रहा। धरने की अध्यक्षता कर रहे मंडल अध्यक्ष श्रीप्रकाश बुधौलिया ने कहा कि यदि 8 मई तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती है तो पूरे मंडल में हड़ताल कर दी जाएगी। तहसील अध्यक्ष मुश्ते हसन ने कहा कि पुलिस की लचर व्यवस्था से अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है जिससे संघ के लोगों में खासा आक्रोश है।
धरना प्रदर्शन के दौरान अमीनों ने जमकर नारेबाजी की। इस मौके पर सुरेश सैनी, रामरतन, शफीक अहमद, शेख जमील, लखन लाल, महावीर मिश्रा, सखावत अली, धर्मेंद्र दीक्षित, शिवचरन राजपूत, जगदीश प्रसाद आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Related Videos

तो क्या आतंकवाद के नाम पर महबूबा सरकार से अलग हुई बीजेपी?

जम्मूा-कश्मीशर में पीडीपी-बीजेपी गठबंधन सरकार गिर गई है। बीजेपी नेता राम माधव ने इस बात का एलान करते हुए कहा कि कश्मी र के मौजूदा हालात को देखते हुए बीजेपी अब महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व में पीडीपी को समर्थन देने की स्थिति में नहीं है।

19 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen