Hindi News ›   World ›   Top North Korean officials sacked after crucial Covid-19 incident Kim Jong Un

उत्तर कोरिया: कोरोना की मार, भूखमरी के कगार पर लोग, गुस्से में तानाशाह ने शीर्ष अधिकारियों को किया बर्खास्त

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, प्योंगयांग Published by: दीप्ति मिश्रा Updated Wed, 30 Jun 2021 07:36 AM IST

सार

एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद तानाशाह किम जोंग उन ने शीर्ष अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया। दरअसल, किम जोंग देश के जर्जर आर्थिक हालात का ठीकरा कैबिनेट और शीर्ष अधिकारियों के सिर फोड़ रहे हैं। जबकि आर्थिक व्यवस्था जर्जर होने के पीछे का मुख्य कारण सीमा बंद होना व  प्राकृतिक आपदा के कारण फसलों की बर्बादी है।
 
उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन
उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन - फोटो : PTI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

चीन से निकल कर कोरोना वायरस पिछले डेढ़ साल से दुनिया भर में तबाही मचा रहा है। हालांकि, उत्तर कोरिया ने पिछले साल जनवरी में ही वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अपने यहां कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे। इसके बावजूद कोरोना महामारी ने वहां जमकर तबाही मचाई। प्रतिबंध और महामारी की मार के चलते वहां के लोगों के सामने दो वक्त के खाने के लाले पड़ गए हैं। इससे खफा उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता तानाशाह किम जोंग उन ने अपने यहां कई शीर्ष अधिकारियों को हटा दिया है। मीडिया रिपोर्ट से बुधवार को यह जानकारी मिली। 
विज्ञापन


उत्तर कोरिया ने कोरोना महामारी का कहर शुरू होने के बाद से अपने यहां मामलों की  पुष्टि नहीं की और न ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को आंकड़ों की जानकारी दी। लेकिन विश्लेषकों ने कहा,  हाल में बने हालातों से साफ संकेत मिल रहे हैं कि परमाणु कार्यक्रम के चलते प्रतिबंधों का सामना कर रहे उत्तर कोरिया में संक्रमण फैल गया था। शीर्ष अधिकारियों की अपेक्षा के चलते महामारी ने जमकर तबाही मचाई, जिसके बाद लागू प्रतिबंधों के चलते वहां की जनता को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ रहे हैं। 


देश की जर्जर हालत का ठीकरा अधिकारियों के सिर फोड़ा
एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद तानाशाह किम जोंग उन ने शीर्ष अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया। दरअसल, किम जोंग देश के जर्जर आर्थिक हालात का ठीकरा कैबिनेट और शीर्ष अधिकारियों के सिर फोड़ रहे हैं। जबकि आर्थिक व्यवस्था जर्जर होने के पीछे का मुख्य कारण महामारी कोविड-19 के कारण सीमा बंद किया गया। साथ ही प्राकृतिक आपदा के कारण फसलों की बर्बादी और असफल कूटनीति के चलते अर्थव्यवस्था और चरमरा गई।

कोरियन मीडिया के मुताबिक, मंगलवार को हुई बैठक में उत्तर कोरिया में कई अधिकारियों को बर्खास्त किया गया, तो कई का तबादला कर दिया गया। इससे साफ संकेत मिल रहा है कि अब उत्तर कोरिया को अंतरराष्ट्रीय मदद की दरकार है। बता दें कि इस महीने की शुरुआत में प्योंगयांग ने स्वीकार किया था कि वह एक भीषण संकट से गुजर रहा है। 
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00