विज्ञापन

देश को चूना लगाने वाले चोकसी ने टीवी पर बहाए आंसू, कहा- सरकार ने बचने के लिए मुझे बनाया बलि का बकरा

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 11 Sep 2018 08:40 PM IST
PNB Scam accused Mehul Choksi on TV, says allegations are false
ख़बर सुनें
देश को लगभग 14 हजार करोड़ का नुकसान पहुंचाने वाला आरोपी शख्स मेहुल चोकसी मंगलवार को मीडिया के जरिए लोगों के सामने आया। इंटरपोल की पकड़ से बेशक चोकसी दूर हो लेकिन मीडिया के कैमरे से नहीं बच सका। एक मीडिया चैनल पर चोकसी ने खुद पर लगे आरोपों को सिरे से खारिज किया। उसने कहा कि जिस कंपनी (गीतांजलि) के जरिए उस पर घोटाले के आरोप लगे हैं वो उसे सन् 2000 में ही छोड़ चुका है। हालांकि उसने स्वीकारा कि सन् 1998 से 2000 यानी दो सालों तक वो इस कंपनी से जुड़ा रहा लेकिन इसके बाद यानी अब तक 18 सालों से दूर हैं। 
विज्ञापन
विज्ञापन
ऐसे में जब चोकसी से ये पूछा गया कि आखिर उनका नाम इस घोटाले में कैसे आया तो उन्होंने कहा कि उनकी तीनों कंपनियों का पीएनबी में खाता रहा है। जिसने मात्र 'केवाईसी' में उसका नाम होने के चलते सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय में उसका नाम दिया। इससे पहले मेहुल चोकसी के मामले जांच एजेंसियों की लापरवाही से प्रधानमंत्री कार्यालय के नाराज होने की खबर सामने आई थी। 

चोकसी ने कहा कि कभी ऐसा हुआ ही नहीं कि एक दिन में किसी कंपनी को बिना जांच के बंद किया जाए। यह सब सिर्फ सरकार पर अत्यधिक दबाव की वजह से हुआ। चुनाव में जो बैंक के डिफॉल्टर हैं उनमें से किसी एक को नहीं लाया जाएगा तो शायद चुनाव इधर से उधर हो सकता है। उन्होंने कहा कि जब नीरव मोदी की कुछ कंपनियों पर पीएनबी ने कार्रवाई की तो उसकी एक कंपनी में नाम होने की वजह से ये कार्रवाई होने लगी। मेरी कंपनी में डायरेक्ट या इनडायरेक्ट रूप से करीब 6 हजार लोग काम करते थे-चोकसी

बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक को अरबों रुपये का चूना लगाने वाले हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी के खिलाफ लंबित रेड कॉर्नर नोटिस (आरसीएन) के अनुरोध पर इंटरपोल की आंतरिक समिति अक्टूबर में विचार करेगी। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) चोकसी के मामले पर सक्रियता से काम कर रहा है। वहीं कारोबारी का कहना है कि उसके खिलाफ यह मामला राजनीति से प्रेरित है। आरोपी चोकसी के मुताबिक ‘जब नीरव मोदी की कुछ कंपनियों पर पीएनबी ने कार्रवाई की तो उसकी एक कंपनी में नाम होने की वजह से ये उन पर कार्रवाई होने लगी।

अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि भारतीय एजेंसियों ने चोकसी के खिलाफ मजबूत मामला तैयार किया है। चोकसी ने इंटरपोल के समक्ष प्रस्तुति देकर आरोप लगाया था कि उसके खिलाफ जो मामले हैं वह सियासी साजिश का परिणाम है। उसने भारत में जेलों के हालात को लेकर भी सवाल उठाए थे। इसके अलावा अपनी निजी सुरक्षा और सेहत समेत अन्य मुद्दे भी उठाए थे। 

इसके बाद इंटरपोल ने आरसीएन अनुरोध पर फैसला टाल दिया था। सीबीआई ने चोकसी के दावों का कड़ाई से खंडन किया। अधिकारियों के मुताबिक चोकसी पंजाब नेशनल बैंक में हुए दो अरब डॉलर के घोटाले का कथित तौर पर मास्टरमाइंड है। इसे भारत का सबसे बड़ा वित्तीय घोटाला माना जा रहा है। अब गेंद पांच सदस्यीय इंटरपोल समिति की अदालत में है जिसे कमीशन फॉर कंट्रोल ऑफ फाइल्स कहा जाता है। 

Recommended

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से
ज्योतिष समाधान

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Rest of World

भारत-पाक को अपने मतभेद द्विपक्षीय तरीके से सुलझाना चाहिए : शंघाई सहयोग संगठन

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के नवनियुक्त महासचिव व्लादिमीर नोरोव ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान को अपने मुद्दों को द्विपक्षीय ढंग से सुलझाना चाहिए।

22 मार्च 2019

विज्ञापन

न्यूजीलैंड के शहर क्राइस्टचर्च में बंदूकधारियों ने बरसाई अंधाधुंध गोलियां, देखिए रिपोर्ट

न्यूजीलैंड के शहर क्राइस्टचर्च में स्थित दो मस्जिद में बंदूकधारियों ने अंधाधुंध गोलियां बरसाईं हैं। जिसमें कम से कम नौ लोगों के मारे जाने की खबर है।

15 मार्च 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election