विज्ञापन

उत्तर कोरिया ने दुनिया को दिखाई ताकत मगर अमेरिका को आंखें दिखाने से बचा

एजेंसी, प्योंगयांग Updated Mon, 10 Sep 2018 01:56 AM IST
बेकडू पर्वत पर खड़े हुए उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन
बेकडू पर्वत पर खड़े हुए उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन - फोटो : KCNA
विज्ञापन
ख़बर सुनें
अपनी 70वीं वर्षगांठ के अवसर पर परमाणु सम्पन्न उत्तर कोरिया ने एक विशाल सैन्य परेड का आयोजन कर दुनिया को अपनी ताकत दिखाई। हालांकि इस दौरान अमेरिका के मुख्य भूभाग तक मार करने में सक्षम अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों (आईसीबीएम) का प्रदर्शन न करके वह अमेरिका को आंखें दिखाने से बचता नजर आया।
विज्ञापन
इस परेड में उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन ने हिस्सा लिया लेकिन वहां जुटे लोगों को संबोधित नहीं किया। किम के सामने जवानों, तोपों और टैंकों का प्रदर्शन किया गया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ जून में हुई ऐतिहासिक वार्ता के बाद पहली बार इस तरह का कार्यक्रम हुआ है। इसीलिए परेड में दिखाई गई सबसे बड़ी मिसाइलें छोटी दूरी की बैटलफील्ड डिवाइसें थीं।

उत्तर कोरिया ने लगभग आधी परेड घरेलू अर्थव्यवस्था का निर्माण करने के असैन्य प्रयासों को समर्पित किया। अर्थव्यवस्था पर अधिक जोर देना किम की आर्थिक विकास मोर्चे पर नई रणनीति को दिखाता है। कार्यक्रम में चीनी संसद के प्रमुख और उन देशों के उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल मौजूद थे जिनके उत्तर कोरिया से मैत्रीपूर्ण संबंध हैं।

तो चीन के लिए पैदा हो जाती मुसीबतें

कोरिया रिस्क ग्रुप के विशेषज्ञ एंड्री लंकोव ने कहा कि अगर उत्तर कोरिया आईसीबीएम दिखाते तो यह अमेरिका को बड़ा उकसावा होता और उसके के चेहरे पर थप्पड़ होता। वहीं यदि ऐसा होता तो इससे वहां मौजूद चीनी प्रतिनिधिमंडल के लिए भी मुसीबतें पैदा हो जाती।

70 सालों से राज कर रहा किम का परिवार 

डेमोक्रेट्रिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया की स्थापना 1948 में हुई और इसे आधिकारिक तौर पर उत्तर कोरिया कहा जाता है। उत्तर कोरिया के मौजूदा तानाशाह किम जोंग-उन का परिवार ही पिछले 70 साल से वहां शासन कर रहा है।  उत्तर कोरिया लगभग हर साल सैन्य परेड निकालता है और उसने इस साल फरवरी में दक्षिण कोरिया में शुरू हुए ओलंपिक से पहले भी सैन्य परेड निकाली थी।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Rest of World

मंगेतर ने कहा था - नहीं आऊं तो भी मुझसे ही शादी करना, युवती ने पूरी की अंतिम इच्छा

इंडोनेशिया में 29 अक्टूबर को हुए लॉयन एयरलाइंस विमान हादसे में इंडोनेशियाई युवती इंटन स्यारी के मंगेतर रियो नंदा प्रतामा की भी मौत हो गई थी।

16 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

हिंदू देवी के नाम से बसा है यह जापानी शहर

देश-विदेश में हिंदू धर्म के बहुत से खूबसूरत मंदिर बने हुए हैं। आज हम आपको विदेशी धरती पर बने एक ऐसे शहर के बारे में बताने जा रहे हैं, जो देवी लक्ष्मी के नाम पर बना हुआ है।

5 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree