औरत से नफरत के मायने बदले जूलिया ने

Santosh Trivedi Updated Sat, 27 Oct 2012 03:51 PM IST
jullia changed meaning of hating women
ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रपति जूलिया गिलार्ड ने संसद में अपने आक्रामक भाषण में ‘मिसोजनी’ शब्द को बिलकुल नए सिरे से परिभाषित क्या किया कि शब्दकोश तैयार करने वाली कंपनी को फिर से अपडेट करने को मजबूर होना पड़ा है।

पिछले हफ्ते संसद में बहस के दौरान आग-बबूला गिलार्ड ने विपक्षी नेता टॉनी एबोट को ‘मिसोजनिस्ट’ घोषित कर दिया था। 'मैक्यारी डिक्शनरी' के अनुसार मिसोजनी का मतलब 'महिलाओं के खिलाफ जबरदस्त नफरत करने वाला' होता है।

लेकिन अब डिक्शनरी की संपादक सू बार्कर ने कहा है कि अगले अंक में इस शब्द का विस्तार करके इसे ‘महिलाओं के खिलाफ मज़बूत पूर्वाग्रह से ग्रस्त होने वाला’ कर दिया जाएगा।

बार्कर ने बीबीसी रेडियो से कहा, “पहले हमारे पास इस शब्द का अर्थ महिलाओं से प्रचुर नफरत करना था। लेकिन जिस तरह से पिछले 20-30 सालों के दौरान इस शब्द का इस्तेमाल, खासकर महिलाओं के लिए प्रयोग होने वाली भाषा में किया गया, यह ठीक प्रतीत नहीं होता।”

अलग परिभाषा जरुरी उन्होंने कहा, “इसके लिए एक अलग परिभाषा होनी जरूरी है जो सिर्फ असंगत ढंग से लैंगिक टिप्पणी से ज्यादा मजबूत हो।” ऑस्ट्रेलिया की पहली महिला प्रधानमंत्री गिलार्ड ने संसद में एबोट को जबरदस्त फटकार लगाई थी। यह बहस स्पीकर पीटर स्लिपर के इस्तीफे के बाद हुई थी जिस पर एक कर्मी ने यौन पीड़न का आरोप लगाया था।

विपक्ष ने सरकार पर स्पीकर को बचाने के लिए दोहरे मानदंड अपनाने का आरोप लगाया था। स्पीकर स्लिपर पर आरोप था कि उन्होंने महिला के नाजुक अंगों का जिक्र करते हुए आक्रामक भाषा में अशलील एसएमएस भेजे थे।

इसके बाद गिलार्ड ने एबोट पर करारा मौखिक प्रहार करते हुऐ कहा, “अगर उन्हें देखना है कि आधुनिक ऑस्ट्रेलिया में मिसोजनी को मतलब क्या होता है, इसके लिए संसद में किसी प्रस्ताव की जरुरत नहीं। वह आइना देखें।” यू-टयूब पर उनका आग उगलता भाषण एकदम से लोकप्रिय हो गया और एक ही हफ्ते में कई लाख लोगों ने इसे देखा।

मिली-जुली प्रक्रिया सेक्सिजम पर गिलार्ड इस रुख को ऑस्ट्रेलिया के बाहर काफी तारीफ मिली है। लेकिन देश में स्पीकर को उनके समर्थन मिली-जुली प्रक्रिया आई है। कई लोग स्पीकर को प्रधानमंत्री के समर्थन को लेकर काफी खफ़ा हैं।

कई का मानना है कि गिलार्ड ने एबोट के खिलाफ गलत शब्द का इस्तेमाल किया है। क्योंकि डिक्शनरी में मिसोजनिस्ट का अर्थ महिलाओं से नफरत करने वाले रोग से पीड़ित व्यक्ति होता है।

बार्कर ने कहा कि वह खुद को हर ऐसी बड़ी पार्टी के बाद हाथ में झाडू और पानी की बाल्टी लेकर भाषा को साफ करने वाले व्यक्ति के रुप में देखती हैं। इस लिहाज से यह काफी बड़ी पार्टी थी। डिक्शनरी के ऑनलाइन अंक में इसी साल बदलाव हो जाएगा जबकि प्रिंट संस्करण में इसे अगले साल बदला जाएगा।

मैक्यारी के इस फैसले का कई लोगों ने काफी विरोध किया है। कई ने अपनी शिकायत भी भेजी है। एक विपक्षी नेता ने इसे राजनैतिक कदम बताया है। इस पूरे मुद्दे पर गिलार्ड या एबोट से टिप्पणी नहीं मिल पाई है। हालांकि एबोट की पत्नी ने अपने पति का बचाव किया और कहा कि उनके पति कई सक्षम महिलाओं के साथ काम करते हैं।

Spotlight

Most Read

Rest of World

भरोसे के मामले में भारत का रुतबा कायम, दुनिया में तीसरा विश्वसनीय देश

भारत दुनिया के तीसरे सबसे भरोसेमंद देशों में से एक है। एक सर्वे में सोमवार को यह बात सामने आई। इसमें कहा गया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में पहुंचे करण जोहर, कहा ये

स्विट्जरलैंड के दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में फिल्म डायरेक्टर और प्रोड्यूसर करण जोहर ने भी हिस्सा लिया।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper