विज्ञापन

कनाडा लौटते ही त्रूदो के बदले तेवर, खालिस्तानी आतंकी के न्योते पर भारत को दिखाई आंख

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 28 Feb 2018 06:24 PM IST
PM Modi, Justin Trudeau
PM Modi, Justin Trudeau - फोटो : PTI
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रूदो के लिए मुंबई में आयोजित डिनर पार्टी में खालिस्तानी आतंकी जसपाल अटवाल के शामिल होने पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। 
विज्ञापन
इस बीच कनाडा में विपक्ष और सीनियर अधिकारियों ने कहा है कि भारत ने अटवाल का वीजा सिर्फ इसलिए अप्रूव किया जिससे त्रूदो के भारत दौरे को नाकाम किया जा सके।

इन आरोपों पर त्रूदो ने भी समर्थन दिया है। उन्होंने कहा कि 'सीनियर अधिकारियों और नेताओं के इस बयान में कुछ सच हो सकता है कि मेरी यात्रा को नाकाम करने के लिए भारतीय सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानबूझकर रुकावटें डाली गईं।'

त्रूदो ने इससे पहले भारत दौरे के दौरान डिनर पार्टी में अटवाल को दिए गए निमंत्रण को बड़ी भूल माना था, लेकिन कनाडा वापस पहुंचते ही उनके तेवर बदल गए हैं।

इशारों में त्रूदो को पीएम मोदी ने दिया था कड़ा संदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इशारों में जस्टिन त्रूदो को खालिस्तान के मुद्दे पर कड़ा संदेश देने की कोशिश की थी। पीएम ने कहा था कि 'भारत की संप्रभुता और एकता को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।'

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा 'उनके लिए कोई जगह नहीं है जो धर्म के आधार पर बंटवारा करने की फिराक में रहते हैं। हमारी संप्रभुता और एकता को नुकसान पहुंचाने वालों को हम बर्दाशत नहीं करेंगे।'

वहीं विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि 'अटवाल को वीजा कैसे मिला फिलहाल यह जांच का विषय है, हालांकि कनाडा ने उसको दिया आमंत्रण कैंसल कर दिया है। कनाडा के उच्चायोग से इस संबंध में जानकारी मांगी जाएगी।'

मालूम हो कि भारत की ओर से आपत्ति जताने के बाद पीएम त्रूदो ने अटवाल को दिए गए निमंत्रण को बड़ी भूल माना था।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Rest of World

फेसबुक ने चुनिंदा कंपनियों को दिया यूजर्स का डाटा देखने का अधिकार

फेसबुक ने कुछ कंपनियों को उपयोगकर्ताओं के दस्तावेज देखने का अधिकार दिया है। बता दें कि ब्रिटिश संसदीय समिति ने बुधवार को इससे संबंधित ईमेल और अन्य फेसबुक दस्तावेज जारी किए हैं।

5 दिसंबर 2018

विज्ञापन

दुनिया में सबसे ज्यादा गुलाम हमारे देश में ही हैं मौजूद, आंकड़ें देखकर हो जाएगी हैरानी

पूरी दुनिया में आज भी साढ़े चार करोड़ से ज्यादा लोग गुलामी की जंजीरों में जकड़े हुए हैं। ग्लोबल स्लेवरी इंडेक्स 2016 के मुताबिक दुनिया के 167 देशों में साढ़े चार करोड़ से ज्यादा लोग गुलाम हैं।

4 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election