कंबोडिया: पॉर्न फिल्म बनाने के आरोप में विदेशी पर्यटकों को वापस भेजा

बीबीसी Updated Wed, 14 Feb 2018 07:56 PM IST
बीबीसी
बीबीसी
ख़बर सुनें
पॉर्न फिल्म बनाने के आरोप में कंबोडिया ने 10 विदेशी पर्यटकों में से सात को निर्वासित कर दिया है। देश के उत्तर-पश्चिम सीम रीप में एक पार्टी के दौरान यौन कर्म की नकल की तस्वीरें सामने आई थीं जिसके बाद जनवरी में इन लोगों को को गिरफ्तार किया गया था। इनमें से सात लोग ब्रिटेन, न्यूजीलैंड और कनाडा के हैं जिन्हें पिछले सप्ताह जमानत दे दी गई थी और अब ये देश छोड़ चुके हैं।
बाकी के तीन लोग ब्रिटेन, नॉर्वे और नीदरलैंड्स के हैं जिन पर कथित तौर पर पार्टी आयोजित करने का मामला चलेगा। सभी दस लोगों ने अपने खिलाफ लगे आरोपों से इनकार किया है। उनका कहना है कि वे निर्वस्त्र नहीं थे और न ही उन्होंने कोई पॉर्न सामग्री बनाई है। रिपोर्टों के अनुसार, जिन सात लोगों को निर्वासित किया गया है उनके जमानती फैसले में कंबोडिया छोड़ना और वापस न आना शामिल था, हालांकि उनके खिलाफ आरोपों को वापस नहीं लिया गया है।

इस घटना की तस्वीरें एक वेबसाइट पर डाली गई थीं जिसमें कई जोड़े कपड़ों या स्विम वियर में एक होटल में यौन कृत्य का अभिनय कर रहे थे। सीम रीप शहर कंबोडिया के पर्यटन आकर्षण के केंद्र अंकोरवाट मंदिर परिसर का प्रवेश द्वार है।

पर्यटकों में यह शहर हाल के दिनों में काफी प्रसिद्ध हुआ है। पिछले कुछ सालों में इस शहर की 'नाइटलाइफ' भी तेजी से विकसित हुई है। जाहिरन, कई बार यह नाइटलाइफ कंबोडिया की सामाजिक रूप से रूढ़िवादी संस्कृति से मेल नहीं खाती।

Recommended

Spotlight

Most Read

Rest of World

हिंदी को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के लिए मॉरीशस ने दिया समर्थन

मॉरीशस की राजधानी पोर्ट लुइस में तीन दिवसीय 11वें विश्व हिंदी सम्मेलन के समापन अवसर पर देश के मार्गदर्शक मंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ ने हिंदी और हिंदुस्तान पर भावुक भाषण दिया। उन्होंने कहा कि यदि हम भारत को माता कहते हैं तो मॉरीशस उस माता का पुत्र है।

21 अगस्त 2018

Related Videos

चार डिजिट के ATM पिन के छिपी है एक प्रेम कहानी, आप हो जाएंगे हैरान

पैसा निकालने के लिए एटीएम जाकर मशीन में अपना एटीएम डालते हैं, चार डिजिट का पिन एंटर करते हैं और आपका काम बन जाता है। लेकिन ये सब इतना आसान हुआ कैसे और एटीएम में पिन का सिस्टम कैसे बना यह बेहद दिलचस्प कहानी है।

8 अगस्त 2018

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree