विज्ञापन
विज्ञापन

भारत को झटका, पाकिस्तान की कामयाबी

अशोक कुमार/ बीबीसी संवाददाता Updated Sun, 26 Jun 2016 04:56 PM IST
एनएसजी
एनएसजी - फोटो : BBC
ख़बर सुनें
परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) के दरवाजे फिलहाल भारत के लिए बंद होने और कराची में मशहूर कव्वाल अमजद साबरी की हत्या पाकिस्तानी उर्दू मीडिया में चर्चा के सबसे प्रमुख विषय हैं।
विज्ञापन
कराची से छपने वाला ‘जंग’ लिखता है कि चीन, तुर्की, ब्राज़ील, इसराइल, ऑस्ट्रिया, न्यूज़ीलैंड और आयरलैंड ने एनएसजी के लिए भारत की सदस्यता का इस आधार पर विरोध किया कि उसने परमाणु फैलाव को रोकने वाले समझौते एनपीटी पर दस्तख्त नहीं किए हैं।

अखबार लिखता है कि ये भारतीय अधिकारियों के लिए बड़ा झटका और सैद्धांतिक आधार पर की जाने वाली पाकिस्तान की कोशिशों की स्पष्ट कामयाबी है। अखबार लिखता है कि चीन और तुर्की जैसे मित्र देशों के अलावा पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान के प्रतिनिधि मंडल ने 55 देशों के सदस्यों से बात की और अपने रुख के बारे में बताया, जिसके सकारात्मक नतीजे सामने आए हैं।

लाहौर से छपने वाले ‘नवा-ए-वक्त’ ने लिखा है कि पाकिस्तान और भारत, दोनों को एक ही साथ एनएसजी का सदस्य बनाया जाना चाहिए। अखबार लिखता है कि भेदभावपूर्ण तरीके से अगर भारत को एनएसजी में शामिल किया गया तो इससे दक्षिण एशिया में अस्थिरता बढ़ेगी।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

यूरोपीय संघ की सदस्यता के मुद्दे पर ब्रिटेन में हुए जनमत संग्रह पर संपादकीय लिखा है

विज्ञापन

Recommended

मोतियाबिंद क्या है, इसके कारण व उपचार
Eye7 (Advertorial)

मोतियाबिंद क्या है, इसके कारण व उपचार

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Rest of World

माइक्रोनेशिया के यप द्वीप में आज भी चलते हैं पत्थर के सिक्के !

दुनिया में Yap एक ऐसी जगह है जहां Rai Stone Money चलती है। Micronesia Island की ये जगह पुरानी मानी जाती है।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन

लॉन्च हुआ पीएसएलवी सी-48 रॉकेट, अंतरिक्ष में पहुंची देश की दूसरी ‘खुफिया आंख’

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो ने आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के लांचिंग पैड से पीएसएलवी सी-48 रॉकेट को लॉन्चलॉन्च किया। अपनी इस उड़ान के साथ इस रॉकेट ने अंतरिक्ष अभियानों का अपना ‘अर्धशतक’ पूरा कर लिया है।

11 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election