यूएनजीए में पीएम मोदी ने कहा: विश्व संगठन पर उठे कई सवाल, अब समीक्षा करने और सुधार का वक्त

एजेंसी, संयुक्त राष्ट्र। Published by: देव कश्यप Updated Sun, 26 Sep 2021 06:34 AM IST

सार

मोदी ने भारत के वैश्विक महत्व को रेखांकित करते हुए कहा, हमारा देश सबको साथ लेकर चलता है। जब भारत विकास करेगा तो उसके साथ पूरा विश्व आगे बढ़ेगा। इसी तरह भारत में होने वाले बदलावों का असर पुरी दुनिया में दिखेगा। आज दुनिया का हर छठा व्यक्ति भारतीय है।
संयुक्त राष्ट्र महासभा में पीएम मोदी का भाषण
संयुक्त राष्ट्र महासभा में पीएम मोदी का भाषण - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, संयुक्त राष्ट्र को प्रासंगिकता कायम रखने के लिए अपनी प्रभावशीलता सुधारनी और विश्वसनीयता बढ़ानी होगी। मोदी ने कहा, संयुक्त राष्ट्र पर कई तरह के सवाल उठाए गए। अब वक्त है इन सवालों की समीक्षा के बाद सुधार किया जाए। उनका इशारा वैश्विक संस्था द्वारा चीन की गतिविधियों के प्रति ढुलमुल रवैया अपनाने की ओर था। डब्ल्यूएचओ पर तो चीन की कठपुतली होने का भी आरोप लगा।
विज्ञापन


भारत के विकास के साथ पूरा विश्व आगे बढ़ेगा
मोदी ने भारत के वैश्विक महत्व को रेखांकित करते हुए कहा, हमारा देश सबको साथ लेकर चलता है। जब भारत विकास करेगा तो उसके साथ पूरा विश्व आगे बढ़ेगा। इसी तरह भारत में होने वाले बदलावों का असर पुरी दुनिया में दिखेगा। आज दुनिया का हर छठा व्यक्ति भारतीय है। उन्होंने कहा, हमारे यहां विज्ञान व प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हो रहे नवोन्मेष विश्व के कल्याण में बड़ा योगदान देंगे।


भाजपा और संघ पर पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के प्रोपगेंडा का जवाब देते हुए पीएम ने दीनदयाल उपाध्याय का जिक्र किया। दीनदयाल को एकात्म मानववाद का प्रणेता बताते हुए कहा कि उनका चिंतन आज भी बेहद प्रासंगिक है। खास बात है कि उनकी आज जयंती भी है। एकात्म मानववाद के सिद्धांत को समझाते हुए उन्होंने कहा कि यह स्व (अपने आप) से समस्ति तक विकास और विस्तार की सह यात्रा है।

यह समाज से जुड़ने की प्रक्रिया है। यह चिंतन अंत्योदय को समर्पित है। अंत्योदय को आज की परिभाषा में कहा जा सकता है कि जहां कोई छूटे नहीं। इसी भावना के साथ आज भारत इंटीग्रेटेड, इक्विटेबल और डेवलपमेंट की राह पर बढ़ रहा है। विकास सब तक पहुंचे यही भारत की प्राथमिकता है।

डीएनए आधारित वैक्सीन बनाने वाला पहला देश बना भारत
मोदी ने कहा, कोरोना से जंग में भारत डीएनए आधारित टीका तैयार करने वाला पहला देश बना है। इसे 12 वर्ष से अधिक उम्र वालों को लगाया जा सकता है। यही नहीं भारत का कोविन पोर्टल ने टीकाकरण को डिजिटल स्वरूप दिया। दुनिया के कई बड़े देशों में टीकाकरण के बाद पर्ची दी गई जबकि हमारे देश में डिजिटल प्रमाण पत्र जारी हुए।

भारत-अमेरिका के रिश्ते और मजबूत होंगे : मोदी
न्यूयॉर्क। अमेरिका की तीन दिवसीय यात्रा समाप्त कर भारत रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस दौरे में उन्होंने कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय उपयोगी बातचीत की। उन्होंने कहा कि इस दौरान कई मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से चर्चा की और संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें यकीन है कि आने वाले वर्षों में भारत और अमेरिका के रिश्ते और मजबूत होंगे। मोदी शनिवार की रात न्यूयॉर्क से भारत के लिए रवाना हो गए। विदेश सचिव हर्षवर्धन शृंगला ने पीएम की इस यात्रा को अत्यंत सफल करार दिया है। 

आतंकी गुटों पर ठोस कार्रवाई करेंगे अमेरिका-भारत

भारत और अमेरिका ने सीमापार आतंकवाद की कड़ी शब्दों में निंदा की और 26/11 मुंबई आतंकी हमलों के दोषियों को न्याय के कटघरे में लाने का आह्वान किया। दोनों देशों ने कहा कि वे सभी आतंकी गुटों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की व्हाइट हाउस में पहली द्विपक्षीय वार्ता के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया, दोनों देश वैश्विक आतंकवाद के खिलाफ साझा जंग में साथ खड़े हैं। इस दौरान दोनों नेताओं ने कोविड-19, जलवायु परिवर्तन, व्यापार और हिंद-प्रशांत समेत कई मुद्दों पर चर्चा की।

बयान में दोनों नेताओं ने किसी भी रूप में आतंक के छद्म इस्तेमाल की निंदा की और आतंकवादी समूहों को किसी भी तरह की सैन्य, वित्तीय सहायता को रोकने के महत्व पर जोर दिया। मोदी और बाइडन ने कहा कि  आतंकवाद विरोधी संयुक्त कार्य समूह और आंतरिक सुरक्षा संवाद के जरिये दोनों देशों के बीच आतंकवाद विरोधी सहयोग को और मजबूत किया जाएगा। इस प्रक्रिया में खुफिया जानकारी साझा करना और कानूनी प्रवर्तन एजेंसियों के बीच सहयोग भी शामिल है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा में पीएम मोदी के अब तक पांच भाषण

69वीं महासभा, 2014, 33:45 मिनट
फोकस : मानवता का भारतीय दर्शन, वसुधैव कुटुम्बकम, आतंकवाद से जंग, वास्तविक वैश्विक साझेदारी, जलवायु परिवर्तन, 2050 के बाद वैश्विक सतत विकास का एजेंडा।  

70वीं महासभा, 2015, 19 मिनट
फोकस : गांधी दर्शन से शुरुआत, मानवता का विकास, सामाजिक आर्थिक पर्यावरण के प्रति परिपक्वता, गरीबी उन्मूलन, सबका सुख, सबका स्वास्थ्य।

74वीं महासभा, 2019, 17:20 मिनट
फोकस : गांधी की 150वीं जयंती, वैश्विक शांति, प्रगति-विकास, आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने की अपील, अंतरराष्ट्रीय सौर संगठन, जलवायु परिवर्तन।

75वीं महासभा 2020 (वर्चुअल), 21 मिनट
फोकस : मानव कल्याण, संयुक्त राष्ट्र की प्रासंगिता पर सवाल, सुरक्षा परिषद में सुधार की जरूरतों पर जोर, कोरोना महामारी को लेकर वैश्विक प्रयासों पर चर्चा, आत्मनिर्भर भारत, हिंद प्रशांत क्षेत्र, अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस व अंतरराष्ट्रीय योग दिवस।

76वीं महासभा, 2021, 22 मिनट
फोकस : आतंकवाद, पाकिस्तान और चीन को नसीहत, अफगानिस्तान, समुद्री साझेदारी, कोरोना टीकाकरण, मेक इन इंडिया।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00