बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

ऑनलाइन उत्पीड़न: अपमानजनक भाषा और गाली से परेशान हर पांचवी युवती ने छोड़ा सोशल मीडिया

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Published by: अमर शर्मा Updated Sat, 10 Oct 2020 06:17 PM IST

सार

  • 71 देशों में काम करने वाली संस्था ने किया सर्वे
  • भारत सहित 22 देशों में हुआ सर्वे
  • 14 हजार लड़कियों ने लिया इसमें हिस्सा
  • गाली और अपमानजनक भाषा रहे उत्पीड़न के सामान्य तरीके
  • फेसबुक पर सबसे ज्यादा दुर्व्यवहार की घटनाएं हुईं
इन प्लेटफॉर्म्स पर हुआ सर्वाधिक दुर्व्यवहार
  • फेसबुक
  • इंस्टाग्राम
  • व्हाट्सएप
  • स्नैपचैट
  • ट्विटर
  • टिकटॉक
विज्ञापन
सोशल मीडिया के माध्यम से उत्पीड़न
सोशल मीडिया के माध्यम से उत्पीड़न - फोटो : iStock
ख़बर सुनें

विस्तार

भारत में मोबाइल नेटवर्क का विस्तार होने और इंटरनेट की दरें कम होने के बाद मोबाइल क्रांति का दौर जारी है। इंटरनेट की तकनीक 4जी से 5जी की ओर शिफ्ट हो रही है। इस परिदृश्य में लोगों का इंटरनेट की वर्चुअल (आभासी) दुनिया में समय ज्यादा बीतने लगा है। लोग मोबाइल और इंटरनेट के जरिए अपने मनोरंजन की जरूरतों को पहले की तुलना में अब ज्यादा पूरी कर पाते हैं। 
विज्ञापन


इस पर भी सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफॉर्म बन गया है, जहां पर लोग हर दिन अपना एक बड़ा हिस्सा बीता देते हैं। राजनीतिक चर्चाओं से लेकर व्यक्तिगत अभिव्यक्ति के लिए सोशल मीडिया सबसे बड़ी जगह बनकर उभरा है। इस वर्चु्अल दुनिया में दोस्त और परिचितों की संख्या भी बहुत ज्यादा बढ़ गई है, जिन्हें हम व्यक्तिगत रूप से न तो जानते हैं और न ही कभी मिले हैं। हम ऐसे लोगों से भी टकराते हैं जिन्हें न तो हम जानते हैं और न ही वे हमारे 'फ्रेंड लिस्ट' में होते हैं।



सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ऐसी जगह बनती जा रही है जहां महिलाओं के प्रति ऑनलाइन दुर्व्यवहार और उत्पीड़न की घटनाओं में बहुत ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। इसकी वजह से हर पांच में से एक महिला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म छोड़ रही हैं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us