बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

एशिया में प्रभाव बढ़ाने की तैयारी: चीन को घेरना चाहता है यूरोपियन यूनियन, लेकिन बचते-बचाते!

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, लंदन Published by: Harendra Chaudhary Updated Wed, 15 Sep 2021 06:35 PM IST

सार

ईयू ने इस मामले में एक दस्तावेज तैयार किया है, जिसमें ताइवान जैसे उन सहभागी देशों के साथ व्यापार और निवेश संबंध आगे बढ़ाने का संकल्प लिया है, जिनके साथ उसके व्यापार और निवेश संबंधी समझौते नहीं हैं। लेकिन इसमें ताइवान के साथ द्विपक्षीय निवेश समझौता करने जैसी बात सीधे तौर पर नहीं कही गई है।
विज्ञापन
यूरोपियन यूनियन और चीन
यूरोपियन यूनियन और चीन - फोटो : Agency (File Photo)
ख़बर सुनें

विस्तार

यूरोपियन यूनियन (ईयू) ने जापान, दक्षिण कोरिया और सिंगापुर के साथ नया डिजिटल पार्टनरशिप कायम करने का इरादा जताया है। साथ ही उसने ताइवान के साथ अपने व्यापार और निवेश संबंध को और गहरा करने की इच्छा व्यक्त की है। बताया जाता है कि ईयू की इस ताजा पहल के पीछे मकसद चीन को घेरना और अफगानिस्तान से पश्चिमी देशों की सेना के वापसी के बाद एशिया में नए सिरे से अपना प्रभाव बढ़ाना है।
विज्ञापन


ईयू ने इस मामले में एक दस्तावेज तैयार किया है। वेबसाइट निक्कईएशिया.कॉम के मुताबिक इस दस्तावेज की कॉपी उसे हाथ लगी है, जिसका उसके विश्लेषकों ने अध्ययन ने किया है। इसके मुताबिक ईयू अपने एशियाई पार्टनरों के साथ सेमीकंडक्टर वैल्यू चेन संबंधी रिश्ते को और मजबूत करने की कोशिश करेगा।


निक्कई एशिया के मुताबिक इस दस्तावेज के अध्ययन से ये बात जाहिर होती है कि इसे तैयार करते वक्त चीन संबंधी चिंता छायी रही। इसमें कहा गया है- ‘उस क्षेत्र में लोकांत्रिक सिद्धांत और मानवाधिकारों के लिए तानाशाही व्यवस्था से खतरा पैदा हो रहा है। इसी तरह एकतरफा अनुचित व्यापार व्यवहार और आर्थिक जोर-जबर्दस्ती के कारण विश्व स्तर पर समान और पारदर्शी व्यापार नियम स्थापित करने की कोशिशों की अनदेखी हो रही है।’

लेकिन दस्तावेज में चीन की सीधी आलोचना से बचा गया है और उसके साथ बहु-आयामी संबंध बनाने पर जोर दिया गया है। दस्तावेज में कहा गया है कि दक्षिण चीन सागर और ताइवान जलडमरूमध्य जैसे समुद्री क्षेत्रों में तनाव बढ़ने का यूरोपीय सुरक्षा और समृद्धि पर खराब असर पड़ेगा। निक्कई एशिया का कहना है कि उसने जिस दस्तावेज का अध्ययन किया है, वह अंतिम नहीं है। इस प्रारूप को विचार-विमर्श के बाद अंतिम रूप दिया जाएगा।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X