बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

NSG में भारत की एंट्री पर फिर चीन बना मुसीबत

amarujala.com- presented by: मनीष कुमार Updated Mon, 05 Jun 2017 02:15 PM IST
विज्ञापन
On India's entry in NSG China says now it's more complicated to include a new member

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप (एनएसजी) में भारत की एंट्री के हमेशा खिलाफ रहने वाले चीन ने एक बार फिर खुले तौर पर विरोध जाहिर किया है। चीन का कहना है कि एनएसजी में नए हालातों के चलते किसी भी नए सदस्य का आना ठीक नहीं होगा। 48 देशों की सदस्यता वाला एनएसजी, परमाणु व्यापार को नियंत्रित करता है और भारत भी इसकी सदस्यता पाना चाहता है, लेकिन चीन लगातार अड़ीयल रुख अपनाए बैठा हुआ है। हालांकि, कई सदस्य भारत के समर्थन में हैं।
विज्ञापन


चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि एनएसजी में पुराना जैसा कुछ नहीं है और नए हालातों को देखते हुए जो देश जुड़ना चाहते हैं, वे उस लायक नहीं हैं। हालांकि, चीन ने एनएसजी को गैर-भेदभावपूर्ण और सार्वभौमिक रूप से लागू समाधान तक पहुंचने के लिए सभी सदस्यों के परामर्श का समर्थन किया है।


बता दें कि पाकिस्तान ने भी एनएसजी की सदस्यता के लिए अप्लाई किया है, लेकिन चीन खुले तौर पर उसके समर्थन में नहीं आया है। इसस पहले भी पिछले महीने चीन के विदेश प्रवक्ता ने साफ कर दिया था कि वे नए सदस्यों की एंट्री को लेकर अपने पक्ष पर बरकार है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us