चीन अपनी ही घोषणा का भुगत रहा है खामियाजा?

बीबीसी हिंदी Updated Tue, 03 Jul 2018 11:26 AM IST
China is suffering due to its own announcement?
ख़बर सुनें
'मेड इन चाइना' सुनते ही लोगों के दिमाग में सस्ते और कामचलाऊ सामान की छवि उभरती है। अब चीन इस तस्वीर को बदलना चाहता है और वो मेड इन चाइना 2025 प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है। चीन इस प्रोजेक्ट के तहत तीन स्तरों पर काम कर रहा है। इसमें सबसे प्रमुख है चीन में बनने वाले सामान की गुणवत्ता में सुधार करना।
2035 तक चीन दुनिया की बड़ी इंडस्ट्री में अपनी कंपनियों को स्थापित करना चाहता है। 2049 तक चीन ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग में दुनिया का बादशाह होना चाहता है और मेड इन चाइना 2025 का आख़िरी लक्ष्य यही है। इस प्रोजेक्ट के तहत 10 अहम सेक्टरों पर ध्यान केंद्रित करना है। इसमें पैसेंजर जेट, रोबोट, सेटेलाइट, समुद्री इंजीनियरिंग और इलेक्ट्रिकल्स वाहन में युद्धस्तर पर काम होगा। इसके लिए चीन की सरकार आर्थिक मदद मुहैया कारएगी साथ ही रिसर्च पर जोर शोर से काम भी करेगी।

मेड इन चाइना 2025 के तहत संस्थान और विश्वविद्यालय भी खोले जाएंगे। कई लोग चीन के इस प्रोजेक्ट को अमरीका के लिए चुनौती मान रहे हैं। अमरीका और चीन में अभी व्यापार के मोर्चे पर तनातनी की स्थिति है। अमरीका का कहना है कि चीन के साथ व्यापार रिश्ता एकतरफा है और उसे 2017 में 370 अरब डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा। इसी तनातनी के बीच चीन के मेड इन चाइना 2025 प्रोजेक्ट की चर्चा जोर-शोर से हो रही है। चीन इस योजना के तहत अपनी इंडस्ट्री को अपग्रेड करने की रणनीति पर काम कर रहा है। क्या वाकई चीन इस योजना से दुनिया का बादशाह बन जाएगा और क्या यह अमरीका के लिए चुनौती है?
 
आगे पढ़ें

मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में चीन का सिक्का

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

China

भारत की मुसीबत बढ़ी, चीन का पहला स्वदेश निर्मित विमानवाहक युद्धपोत दूसरे परीक्षण के लिए तैयार

चीन का पहला स्वदेश निर्मित विमानवाहक युद्धपोत समुद्र में अपने दूसरे परीक्षण के लिए पूरी तरह तैयार, भारत के लिए है बड़ी चुनौती।

6 जुलाई 2018

Related Videos

#GreaterNoida: रात में गिरी ‘मौत’ की इमारतें, डराने वाली VIDEO आया सामने

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के शाहबेरी में मंगलवार रात एक चार मंजिला और एक छह मंजिला निर्माणाधीन इमारत धराशाही हो गई।

18 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen