रोबोटिक्स विशेषज्ञों ने अमेरिका से की अपील, हत्यारे रोबोट पर लगाएं रोक

बीबीसी, हिन्दी Updated Wed, 23 Aug 2017 06:45 PM IST
Robotics experts appeals to stop killer robots, otherwise the world will end
Symbolic photo
100 से ज्यादा रोबोटिक्स विशेषज्ञों ने संयुक्त राष्ट्र से अपील की है कि किलर रोबोट्स के बनाने पर रोक लगाई जाए । यूएन को लिखे पत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) विशेषज्ञों ने युद्ध में तीसरी क्रांति की चेतावनी दी है। इनमें अरबपति एलन मस्क भी शामिल हैं। 116 विशेषज्ञों ने हथियारों के तौर पर एआई के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। 
पढ़ें: ब्रिटेन ने बनाया दुनिया का सबसे छोटा सर्जिकल रोबोट, मरीजों को जल्द करेगा ठीक

पत्र में कहा गया है,एक बार इनके विकसित होने के बाद बड़े स्तर पर सशस्त्र युद्ध हो सकता है जो अब तक नहीं हुआ और ये इंसानी सोच से भी तेज होंगे। पत्र में आगे कहा है, ये आतंकवादियों के हथियार हो सकते हैं। आतंकी इनका इस्तेमाल मासूमों को मारने के लिए कर सकते हैं। इन्हें हैक करके बेहद बुरी स्थिति लाई जा सकती है। 

पढ़ें: फेसबुक के रोबोट खुद की भाषा में करने लगे बातें, कंपनी ने किया बंद

तकनीकी विशेषज्ञों का मानना है कि इस पर जल्द कदम उठाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, एक बार ये जालिम बक्सा खुल गया तो फिर इसे बंद करना मुश्किल होगा। विशेषज्ञों का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र की हथियारों की प्रतिबंधित सूची में इसे शामिल किया जाए। मांग करने वालों में टेस्ला के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी पदाधिकारी मस्क के अलावा गूगल के सह-संस्थापक मुस्तफा सुलेमान भी शामिल हैं। 
आगे पढ़ें

पहले भी हुई है किलर रोबोट बनाने पर प्रतिबंध की चर्चा

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

America

अब अमेरिका के कानूनी स्थायी निवासी हैं मेलानिआ ट्रंप के माता-पिता

नवास औपचारिक रूप से स्लोवेनिया के रहने वाले हैं और वह ग्रीन कार्ड पर अमेरिका में रह रहे हैं।

23 फरवरी 2018

Related Videos

AIUDF और बदरुद्दीन अजमल के बारे में वो हर बात जो आप जानना चाहते हैं

सेना प्रमुख बिपिन रावत के बांग्लादेशी नागरिकों की असम में घुसपैठ और AIUDF पर दिए बयान से राजनीतिक बवाल मच गया है। सेना प्रमुख के बयान के बाद ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के चीफ बदरूद्दीन अजमल से पलटवार किया।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen