'My Result Plus
'My Result Plus

वो शख़्स जो डायनासोर बेचता था

Ashok Kumar Updated Fri, 28 Dec 2012 04:14 PM IST
man admits to smuggling asian fossils of dinosaurs
ख़बर सुनें
फ्लोरिडा के एक जीवाश्म विक्रेता ने अदालत में स्वीकार किया है कि वो डायनासोर की हड्डियों और जीवाश्म तस्करी करता था। इनमें मंगोलिया के उस टिरेनोसॉरस के कंकाल की तस्करी भी शामिल है जो सात करोड़ साल पुराना है। न्यूयॉर्क की एक अदालत में ऐरिक प्रोकोपी ने बयान दिया कि उन्होंने मई में अवैध रुप से मंगोलिया से आयात किए गए इस कंकाल को दस लाख डॉलर से भी ज्यादा की रकम में नीलाम कर दिया।
जून में मंगोलिया से कंकाल के चोरी होने की सूचना मिलने के बाद अमरीकी अधिकारियों ने हड्डियों को जब्त कर लिया था। अदालत में सुनवाई के दौरान ऐरिक प्रोकोपी ने इस आरोप का बचाव नहीं किया।

जीवाश्म का काला कारोबार
प्रोकोपी ने ये भी स्वीकार किया कि उन्होंने चीनी फ्लाइंग(उड़ने वाला) डायनासोर के अलावा दो ओविरापोटर्स का भी आयात किया। प्रोकोपी को अक्टूबर में उस वक्त गिरफ्तार किया गया था, जब जीवाश्म से लदा एक ट्रक उनके घर पर पहुंचा। अमरीका के अटार्नी प्रीत भरारा का कहना है कि अधिकारी अब इन जीवाश्मों को उनके मूल देश लौटने की प्रक्रिया शुरू करेंगे।

उन्होंने कहा," जीवाश्म और पुरातन कंकाल एक देश के प्राकृतिक इतिहास और सांस्कृतिक विरासत के हिस्से होते हैं और प्रोकोपी जैसे लोग प्रकृ़ति के इस चमत्कार को काला बाज़ारी के जरिए बेचते हैं। ये इतिहास के एक टुकड़े की चोरी करना है।" मंगोलिया अमरीकी अदालत के जरिए चाहता है कि सात करोड़ वर्ष पुराने टिरेनोसॉरस का कंकाल उसे वापस कर दिया जाए। मंगोलिया का कहना है कि इस कंकाल को गोबी मरुस्थल से चोरी किया गया था।

चोरी के डायनासोर
गुरुवार को अदालत में, सहायक अमरीकी अटार्नी मार्टिन बेल ने डायनासोर की एक सूची पढ़ी और कहा कि प्रोकोपी ने इन्हें अवैध रूप से आयात किया था। उन्होंने इसे मजिस्ट्रेट जज रोनाल्ड एलिस को भी दिखाया। मार्टिन बेल ने ये भी कहा कि टिरेनोसॉरस का एक अन्य कंकाल जो लगभग पूरा है उसे प्रोकोपी के फ्लोरिडा स्थित घर में पाया गया। साथ ही ओविरापोटर का एक कंकाल प्रोकोपी के एक दूसरे घर से बरामद हुआ है।

प्रोकोपी ने स्वीकार किया कि वो अवैध रूप से मंगोलिया और चीन से कंकाल आयात करते थे। इसी साल, मई में न्यूयॉर्क में हुई नीलामी में जिस टिरेनोसॉरस को बेचा गया उसे फिर से बनाने में प्रोकोपी ने साल भर मेहनत की थी क्योंकि इसकी हड्डियों का ढ़ांचा चरमरा चुका था। प्रोकोपी के बारे में बताया गया है कि वो ऐसे संग्रहकर्ता हैं जो व्यावसायिक रुप से इंटरनेट पर मूंगा, जीवाश्म और अन्य वस्तुओं को बेचते हैं।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

America

आसान नहीं होगा एच-1 बी वीजा के लिए आवेदन करना, नियमों में बड़े बदलाव करने जा रहा अमेरिका

अमेरिकी प्रशासन एच-बी वीजा प्रक्रिया को भी कठोर बनाने पर काम रहा है। अमेरिकी नागरिकता एवं आप्रवासन सेवा (यूएससीआईएस) के मुताबिक यह कदम वीजा धोखाधड़ी रोकने के लिए उठाया जा रहा है।

24 अप्रैल 2018

Related Videos

ग्रेटर नोएडा में किशोरी के साथ गैंगरेप समेत शाम की दस बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी खबरें दिन में चार बार LIVE देख सकते हैं, हमारे LIVE बुलेटिन्स हैं - यूपी न्यूज सुबह 9 बजे, न्यूज ऑवर दोपहर 1 बजे, यूपी न्यूज शाम 7 बजे।

24 अप्रैल 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen