अमेरिका में बाढ़, बर्फबारी और बारिश का कहर, पांच की मौत

न्यूयॉर्क टाइम्स, न्यूज सर्विस, न्यूयॉर्क/बोस्टन Updated Sun, 04 Mar 2018 05:51 AM IST
Flood, snowfall and rain ravage in America, five killed, many injured
ख़बर सुनें
पिछले साल कई बड़े तूफान झेल चुके अमेरिका के उत्तर-पूर्वी तट पर एक और भयानक तूफान ने दस्तक दी है। इस बर्फीले तूफान की वजह से शनिवार को पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि पूर्वी तट पर भारी बारिश, तेज हवाओं और बर्फबारी के कारण हजारों उड़ानें रोक दी गई हैं। इसके अलावा वाशिंगटन का संघीय कार्यालय भी इस तूफान के कारण बंद करना पड़ा है। अमेरिका के पूर्वोत्तर इलाके में 90 हजार से अधिक घरों की बिजली आपूर्ति ठप हो चुकी है और करीब सात लाख लोग बुनियादी आवश्यकताओं के लिए जूझ रहे हैं।
जड़ समेत उखड़े पेड़, हजारों घरों की बिजली गुल

पूर्वी तट पर जारी भीषण आंधी के कारण रात को सोते वक्त पेड़ गिरने से एक बच्चे की उसी समय मौत हो गई, जबकि न्यूयॉर्क के पुतनाम काउंटी में 11 साल के एक लड़के की भी उसके घर पर पेड़ गिरने से मौत हो गई। आंधी के चलते बाल्टिमोर में 77 साल की महिला, रोड द्वीप पर 70 साल के बुजुर्ग और वर्जीनिया में एक 44 साल के व्यक्ति की मौत पेड़ गिरने से हो गई। मेसाचुसैट्स में 134 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही हैं। यहां मौसम विभाग ने आगे भी आंधी का कहर जारी रहने की भविष्यवाणी की है। 

134 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही बर्फीली हवाएं

यहां कई इलाकों में हवाएं इतनी तेज हैं कि पेड़ अपनी जड़ों समेत उखड़ गए हैं। अधिकारियों ने तटीय इलाकों के लोगों से अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थान पर जाने की सलाह दी है। बोस्टन में सड़कों पर पानी भर गया है। यहां भी 113 किलोमीटर की रफ्तार से चल रही हवाओं के कारण कई जगह पर पेड़ गिर गए हैं और बिजली गुल हो गई है। तूफान के कारण वर्जीनिया के गवर्नर ने आपातकाल की घोषणा कर दी है। राजधानी वाशिंगटन में भी लोगों को बिजली की किल्लत का सामना करना पड़ा है।

कैलिफोर्निया में हिमस्खलन से एक की मौत, पांच घायल

लास एंजेल्स। अमेरिका के कैलिफोर्निया में भी भीषण बर्फीले तूफान के चलते एक स्नोबोर्डर की मौत और नेवादा स्की स्थल पर हिमस्खलन के कारण पांच लोगों के घायल होने के समाचार हैं। कैलिफोर्निया के स्कॉ वैली स्की रिसॉर्ट को हिमस्खलन के बाद बंद कर दिया गया है। बचावकर्मी यहां फंसे लोगों को बाहर निकालने में जुटे हुए हैं। यहां हिमस्खलन रोकने के लिए विस्फोटकों का इस्तेमाल भी किया गया लेकिन बर्फबारी काफी तेज होने के कारण कोई भी उपाय काम नहीं आया। इलाके में करीब 241 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बर्फीली हवाएं चल रही हैं।

यूरोप में तापमान मायनस 20 से भी कम रिकॉर्ड हुआ

लंदन। यूरोप में भी इन दिनों बर्फीले तूफान का कहर जारी है। यहां 2 दिन में 300 से अधिक उड़ानों को रद कर दिया गया है, जबकि सार्वजनिक परिवहन भी ठप हो गया है। खबर है कि अब तक इस खतरनाक मौसम के चलते कुल 35 से भी ज्यादा लोग यहां मारे गए हैं। उत्तरी नीदरलैंड में तापमान मायनस 43 डिग्री सेंटीग्रेड तक पहुंच गया, जबकि ब्रिटेन में मायनस 23 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान रिकॉर्ड किया गया। पिछले 55 सालों में यह सबसे कम तापमान है। स्कॉटलैंड में रेड अलर्ट जारी किया गया है। इटली के नेपल्स में 50 साल की बर्फबारी ने रिकॉर्ड तोड़ा है, जबकि रोम में पिछले 32 साल में दूसरी बार बर्फबारी हुई है। पोलैंड में बुधवार को ही ठंड से 8 मौतें हुई हैं। यूरोप की सड़कें बर्फ की चादर से ढंकी देखी जा सकती हैं।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

America

ट्रंप ने सीमा सुरक्षित करने की ली शपथ, कहा योग्य लोग ही अमेरिका आएं

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अंतरराष्ट्रीय सीमा को सुरक्षित रखने और गैरकानूनी तरीके से लोगों के प्रवेश को रोकने का प्रण करते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि सिर्फ योग्य लोग ही अमेरिका आएं।

23 जून 2018

Related Videos

‘हेलो फ्रेंड्स’ वाली आंटी का हर अंदाज देखिए

हैलो फ्रेंड्स चाय पी लो, ये लाइन बीते कुछ दिनों में आपने कई बार सुनी होगी। इस एक लाइन से चाय पीने वाली आंटी फेमस हो गई। हम आपको चाय वाली आंटी का हर अंदाज दिखाएंगे।

23 जून 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen