विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Video ›   World ›   Rest of World ›   how friendship day came into existence

कड़ी मशक्कतों के बाद दोस्तों की दोस्ती के लिए बना 'फ्रेंडशिप डे'

686 Views
कन्वर्जेंस डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 30 Jul 2019 03:21 PM IST

दोस्त जहां दो लोग आकर अस्त हो जाएं, मतलब एक दूसरे में ही समाहित हो जाएं जहां न कुछ छिपाना हो और न ही कुछ दिखाना हो। दोस्ती वो रिश्ता है जो खून से तो जुड़ा नहीं होता लेकिन दिल से उसके तार गहरे जुड़े होते हैं।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Latest

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree