विज्ञापन
Hindi News ›   Technology ›   Chinese apps like Tik Tok and WeChat will be banned in the US from September 20

चीनी एप्स के खिलाफ अमेरिका का बड़ा फैसला, 20 सितंबर से बैन होंगे Tik Tok और WeChat

टेक डेस्क, अमर उजाला Published by: श्रीधर मिश्रा Updated Fri, 18 Sep 2020 08:16 PM IST
सांकेतिक
सांकेतिक - फोटो : Amar Ujala
ख़बर सुनें

भारत के बाद अब अमेरिका में भी चीनी वीडियो एप टिक टॉक (Tik Tok) और मैसेजिंग एप वीचैट (WeChat) बैन होने जा रहे हैं। दरअसल अमेरिकी वाणिज्य विभाग ने शुक्रवार को इससे जुड़ा एक आदेश जारी किया है। इस आदेश के मुताबिक 20 सितंबर से WeChat और TikTok की डाउनलोडिंग अमेरिका में बंद हो जाएगी। 

विज्ञापन


जानकारी के अनुसार, रविवार से इन एप्स का ऑपरेशन अमेरिका में बंद हो जाएगा। मालूम हो कि भारत ने इस साल अब तक 224 चीनी एप्स को बैन कर दिया था, जिसका अमेरिकी प्रशासन और सांसदों दोनों ने स्वागत किया था।

राष्ट्रीय सुरक्षा को बताया खतरा

संयुक्त राज्य अमेरिका ने राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा बताते हुए टिकटोक के डाउनलोड और वीचैट के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है। वाणिज्य सचिव विल्बर रॉस ने एक बयान में कहा, "चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और अमेरिका की अर्थव्यवस्था को खतरे में डालने के लिए इन एप्स का इस्तेमाल किया है।"

मौजूदा टिकटोक यूजर्स 12 नवंबर तक चला सकेंगे एप

अमेरिकी प्रशासन के इस फैसले के बाद अब 20 सितंबर से देश में वीचैट और टिकटोक एप्स गूगल और एपल की तरफ से संचालित ऑनलाइन मार्केटप्लेस से हटा दिए जाएंगे। वीचैट अमेरिका में रविवार से प्रभावी रूप से बंद हो जाएगा, लेकिन मौजूदा टिकटोक यूजर्स 12 नवंबर तक एप का इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके बाद टिकटोक का अमेरिका में परिचालन पूरी तरह से बंद हो जाएगा।
 

टिकटॉक के किसी भी सौदे पर हस्ताक्षर करने के लिए नहीं हूं तैयार: डोनाल्ड ट्रंप 

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि वे चीनी वीडियो एप टिकटॉक की बिक्री को लेकर किए गए किसी भी सौदे पर तब तक हस्ताक्षर करने के लिए तैयार नहीं हैं जब तक कि वे उस प्रस्ताव को देख नहीं लेते। पत्रकारों से बात करते हुए ट्रंप ने कहा था, 'जहां तक राष्ट्रीय सुरक्षा की बात है तो यह सौदा 100 फीसदी होना चाहिए। नहीं मैं किसी भी चीज पर हस्ताक्षर करने के लिए तैयार नहीं हूं। मुझे सौदा देखना है। हमें सुरक्षा की जरूरत है, खासकर चीन के साथ जो हमने देखा है।'

छह अगस्त को, ट्रंप ने एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए थे जो जिसमें 45 दिनों के लिए प्रभावी था। इसके तहत चीन की कंपनी बाइटडांस के साथ किसी भी अमेरिकी लेनदेन पर प्रतिबंध लगाया गया था। 

14 अगस्त को, अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक और कार्यकारी आदेश जारी किया, जिसमें 90 दिनों के भीतर टिकटॉक को अपना संचालन अमेरिकी कंपनी को देना था। स्पुटनिक ने बताया कि अमेरिकी सॉफ्टवेयर कंपनी ओरेकल बाइटडांस से टिकटॉक के अमेरिकी संचालन का अधिग्रहण करने के लिए बोली में सबसे आगे निकली है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Tech News in Hindi related to live news update of latest gadget news and mobile reviews, apps, tablets etc. Stay updated with us for all breaking news in hindi from Tech and more Hindi News.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00