विज्ञापन
विज्ञापन

धरती पर आज से 9 दिन रहेगी मां दुर्गा

Rakesh Jhaराकेश कुमार झा Updated Fri, 03 Aug 2012 04:55 PM IST
maa-durga-will-stay-on-earth-for-nine-days-during-gupt-navratri
ख़बर सुनें
मां दुर्गा आज से नौ दिनों के लिए पृथ्वी पर आ रही हैं। 28 जून को मां वापस अपने लोक लौट जाएंगी। साल में ऐसा चार बार होता है जब मां पृथ्वी पर अपने भक्तों के बीच आती हैं। पृथ्वी को माता का मायका माना गया है। माता हर बार नौ दिनों के लिए मायके आती हैं, इसलिए माता के आगमन से जाने के दिन तक को नवरात्र के नाम से जाना जाता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
शास्त्रों में चार नवरात्र की चर्चा की गयी है। शारदीय नवरात्र और चैत्र नवरात्र को प्रकट नवरात्र कहा गया है। जबकि आषाढ़ और माघ के नवरात्र को गुप्त नवरात्र के नाम से जाना जाता है। आज से शुरू हो रहा नवरात्र गुप्त नवरात्र है। इसे शक्ति की उपासना के लिए उत्तम माना गया है। इस दौरान तंत्र-मंत्र की साधना का फल जल्दी मिलता है। 

मनोकामना पूरी करने वाली दस महाविद्याएं
इस नवरात्र में शुम्भ-निशुम्भ का वध करने वाली मां दुर्गा की महासरस्वती रूप की प्रधानता रहती है। शास्त्रों में महासरस्वती के साथ शाकंभरी देवी की पूजा का विशेष महत्व बताया गया है।

श्रृंग ऋषि ने कहा है कि जिस प्रकार चैत्र नवरात्र में विष्णु पूजा की और शारदीय नवरात्र में शक्ति के नौ रूपों की पूजा की प्रधानता रहती है, गुप्त नवरात्र में दस महाविद्याओं की पूजा का महत्व होता है। इनकी उपासना से धन-धान्य एवं ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। काली, तारा, त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी, छिन्नमस्ता, भैरवी, धूमावती, बगलामुखी, मातंगी और कमला ये दस महाविद्याएं हैं।

माता की पूजा करें, ग्रहों के शुभ फल पाएं
जिनकी कुण्डली में कोई ग्रह कमज़ोर हैं या शत्रु भाव में बैठकर हानि पहुंचा रहे हैं। ऐसे लोगों को नवरात्र के इन दिनों में माता की उपासना करनी चाहिए। जिनका सूर्य अनुकूल नहीं है उन्हें शैल पुत्री की उपासना से लाभ मिलता है।

कूष्मांडा की पूजा से चन्द्रमा शुभ फल देने लगता है। मंगल जिनका प्रतिकूल है उन्हें स्कंदमाता की पूजा करनी चाहिए। बुध को मजबूत बनाने के लिए कात्यायनी की साधना करें। महागौरी की पूजा से गुरू बलवान होकर शुभ फल देने लगता है। शुक्र को शुभ बनाने के लिए सिद्घिदात्री की पूजा करें।

कालरात्रि की भक्ति से शनि का कुप्रभाव समाप्त हो जाता है। राहु अगर कष्ट दे रहा है तो ब्रह्मचारिणी देवी की पूजा करें और केतु के दुष्प्रभाव को समाप्त करने के लिए चंद्रघंटा की पूजा करनी चाहिए।

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
ज्योतिष समाधान

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स, परामनोविज्ञान समाचार, स्वस्थ्य संबंधी योग समाचार, सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Religion

ज्येष्ठ मास: जानें महत्व और 19 मई से 17 जून तक के व्रत-त्योहार

ज्येष्ठ के महीने में सूर्यदेव अपने रौद्र रूप में रहते हैं जिसके कारण प्रचंड गर्मी रहती है।

19 मई 2019

विज्ञापन

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर एग्जिट पोल में भाजपा को 50 से ज्यादा सीटें

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए आखिरी चरण का मतदान संपन्न होते ही एग्जिट पोल सामने आ गए है। उत्तर प्रदेश में छह में से पांच एग्जिट पोल में भाजपा को 50 से ज्यादा सीटें।

19 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election