नवरात्र का तीसरा दिन, ऐसे करें ब्रह्मचारिणी देवी की पूजा, बढेगी उम्र

Rakesh Jha Updated Mon, 03 Oct 2016 10:57 AM IST
brahmcharini devi puja on navratra second day
ब्रह्मचार‌िण्‍ाी देवी
ब्रह्मचारिणी देवी का स्वरूप अत्यंत ही भव्य है। यह देवी भक्तों को यह संदेश देती हैं कि जीवन में बिना तपस्या यानी कठोर परिश्रम के सफलता नहीं प्राप्त की जा सकती। मां मूलरूप से तपस्विनी हैं। भगवान शिव को पति रूप में पाने के लिए इन्होंने हजारों वर्ष तक घोर तपस्या की और जंगल के फलों-पत्तों को खाकर अपनी साधना पूर्ण की और शिव को प्राप्त किया। इसलिए इनका का स्वरूप बहुत ही सादा और भव्य है।
आगे पढ़ें

देवी ब्रह्मचार‌िणी के हाथ में कमंडल और दूसरे हाथ में चंदन माला

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all spirituality news in Hindi related to religion, festivals, yoga, wellness etc. Stay updated with us for all breaking news from fashion and more Hindi News.

Spotlight

Related Videos

देखिए, इतने बजे होगा सूर्य ग्रहण, ये है आपके हर सवाल का जवाब

15-16 फरवरी को साल 2018 का पहला सूर्य ग्रहण लगने वाला है। इस सूर्य ग्रहण से कई राशियों पर काफी फर्क पड़ने वाला है।

15 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen