विज्ञापन

चयन आयोग पर आरोप, पंजाब के अभ्यर्थी को दे दी नियुक्ति

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मंडी Updated Fri, 09 Nov 2018 07:46 PM IST
charges on hpssc Appointment given to candidates of Punjab
विज्ञापन
ख़बर सुनें
राजकीय संस्कृत शिक्षक परिषद ने शास्त्री पदों की भर्तियों का विरोध किया है। परिषद के पदाधिकारियों का कहना है कि प्रदेश में तृतीय तथा चतुर्थ श्रेणी के पदों के लिए मात्र हिमाचल के स्थायी निवासी ही पात्र हैं।
विज्ञापन
लेकिन आरोप लगाया कि कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर ने शास्त्री पद के लिए पंजाब के जिला पटियाला के अभ्यर्थी को परीक्षा में स्वीकार किया और परीक्षा पास करके शिक्षा विभाग ने उसे ऊना जिला में नियुक्ति प्रदान की है। संस्कृत शिक्षक परिषद ने इसका विरोध किया है।

साथ ही शिक्षा मंत्री को भी ज्ञापन भेजा है। हिमाचल राजकीय संस्कृत शिक्षक परिषद के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. मनोज शैल, महासचिव अमित शर्मा, कोषाध्यक्ष सोहन लाल एवं जिला ऊना के प्रधान बलवीर शास्त्री, बिलासपुर के प्रधान राजेंद्र शर्मा, मंडी के प्रधान

आचार्य बृजमोहन, हमीरपुर के प्रधान सुनील, कांगड़ा के प्रधान जीवन चंदेल, चंबा के प्रधान अमर सेन, किन्नौर के प्रधान जंगछुब नेगी, सोलन के प्रधान दुर्गानंद ने कहा कि यह हिमाचल के बेरोजगार युवाओं के साथ अन्याय है।

इस प्रकार गैर हिमाचली को तृतीय श्रेणी की शास्त्री पद पर नियुक्ति देना न्यायसंगत नहीं है। परिषद ने सरकार से मांग की है कि इस नियुक्ति को तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाए।

यदि इन पदों पर भी पूरे भारत के अभ्यर्थियों को पात्र मान लिया जाएगा तो नौकरी की आस लगाए सूबे के बेरोजगार कहां जाएंगे?  परिषद ने शिक्षा मंत्री, शिक्षा सचिव व शिक्षा निदेशक प्रारंभिक शिक्षा से इस विषय में हस्तक्षेप करने व इस नियुक्ति को निरस्त करने का आग्रह किया है। 

उधर, कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर के सचिव डॉ. जितेंद्र गौतम ने कहा कि आरएंडपी रूल के अनुसार भारत का कोई भी नागरिक हिमाचल में नियुक्त हो सकता है। उम्मीदवारों का चयन भर्ती के आधार पर किया जाता है। जो भी पात्र उम्मीदवार चयनित हुआ है, वह नियमों के आधार पर ही हुआ है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

प्राइवेट कॉलेजों ने इतने लाख कर दी बीएड फीस

प्रदेश में कई दो वर्षीय बीएड कोर्स करके 20 हजार रुपये में अध्यापक बन जाएंगे, तो कईयों को अध्यापक बनने के लिए ढाई लाख रुपये खर्च करने पड़ेंगे।

17 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

महिला टी20 विश्वकप : भारत की बेटियों ने ऑस्ट्रेलिया को 48 रनों से हराया

महिला टी20 विश्वकप में भारत की बेटियों ने एक और जीत दर्ज की। भारतीय महिला टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 48 रनों से मात दी। टूर्नामेंट में भारतीय महिला टीम की ये लगातार चौथी जीत है।

18 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree