भाजपा के लिए पूर्वांचल में थोड़ा है, ज्यादा की जरूरत है

प्रदीप मिश्र / वाराणसी। Updated Tue, 28 Feb 2017 08:28 PM IST
up election 2017: BJP needs more efforts in the East
भाजपा ने तो पूर्वांचल से ताल्लुक रखने वाले केंद्रीय मंत्रियों के साथ-साथ बिहार तक के केंद्रीय मंत्रियों को प्रचार के लिए लिए उतार दिया है। पार्टी का समन्वय कार्यालय वाराणसी शिफ्ट कर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा को प्रभारी बना दिया गया है। बीते एक सप्ताह से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ताबड़तोड़ जनसभाएं कर रहे हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद सोमवार को मऊ में जनसभा कर मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ के मतदाताओं तक अपनी बात पहुंचाएंगे। बीते साल एक मई को पीएम ने देशव्यापी उज्ज्वला योजना की शुरुआत के लिए बलिया को चुना था।

प्रदेश में परिवर्तन यात्राओं के क्रम में 14 नवंबर को उन्होंने गाजीपुर में जनसभा कर चुनावी माहौल को गति दी थी। तीन से पांच मार्च तक पीएम मोदी की वाराणसी, मिर्जापुर और जौनपुर में सभाएं होनी हैं।
पूर्वांचल पर भाजपा के खास ध्यान देने की वजह है।

दरअसल, भाजपा को भलीभांति मालूम है कि राजनीतिक रूप से परिपक्व पूर्वांचल के लोग न केवल तर्क करते हैं, बल्कि तर्कों को कसौटी पर परखते भी हैं। इसके अलावा पूर्वांचल के मतदाता एकतरफा मतदान करते हैं।
आगे पढ़ें

सपा से नाराज मतदाताओ को अपनी ओर करना चाहती है भाजपा

Spotlight

Most Read

rajpath

हिमाचल विस चुनाव: कांगड़ा के सियासी दुर्ग से निकलेगी सत्ता की राह

विधानसभा चुनाव में एक जुमला खूब चला कि शिमला की सत्ता पर काबिज होने का रास्ता कांगड़ा से होकर गुजरता है।

8 नवंबर 2017

Related Videos

पीरियड्स के दौरान कभी न खाएं ये सात चीजें

मासिक धर्म के दौरान अपनी सेहत को बनाए रखने के लिए आपको पौष्टिक आहार लेना चाहिए। लेकिन सही जानकारी न होने पर महिलाएं कुछ भी खा लेती हैं जिससे मूड और पेट में एंठन और भी ज्यादा बढ़ जाती है।

18 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen