शिक्षा नीति का असर... सरकारी स्कूलों की तरफ बढ़ा छात्रों का रुझान, मोहाली पंजाब में टॉप पर

अमर उजाला, मोहाली Updated Tue, 30 Jun 2020 05:04 PM IST
विज्ञापन
सरकारी स्कूल
सरकारी स्कूल - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
कोरोना महामारी के बीच पंजाब के सरकारी स्कूलों को लेकर एक अच्छी खबर सामने आई है। सरकारी स्कूलों की तरफ पैरेंट्स और विद्यार्थियों का रुझान तेजी से बढ़ा है। यह बात शिक्षा विभाग के रिकॉर्ड से सामने आई है। इसके मुताबिक पूरे राज्य के स्कूलों में नए दाखिलों में 10.38 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इसमें मोहाली पूरे पंजाब में टॉप पर रहा है।
विज्ञापन

मोहाली में दाखिले की दर 22.14 फीसदी रही है जो अपनेआप में रिकॉर्ड है। इतना ही नहीं राज्य में 1,14,773 विद्यार्थियों ने निजी स्कूलों को छोड़कर सरकारी स्कूलों की तरफ रुख किया है। मोहाली के जिला शिक्षा अधिकारी हिम्मत सिंह ने बताया कि गत साल विद्यार्थियों की संख्या 84,771 थी। वहीं अब संख्या बढ़कर 1,03,540 तक पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि इसके पीछे शिक्षा विभाग की नीतियों का असर है।
निजी स्कूलों की तर्ज पर हो रही पढ़ाई
जानकारी के मुताबिक राज्य के सरकारी स्कूलों में अब निजी स्कूलों की तर्ज पर पढ़ाई हो रही है। आकर्षक क्लास रूम व प्ले की कक्षाएं शुरू की गई हैं। इसके सकारात्मक नतीजे नजर आने लगे हैं। पहली बार देखने को मिला है कि नए दाखिलों में 10.38 फीसदी का इजाफा हुआ है।

ये हुए बदलाव
तीन साल से सरकार सरकारी स्कूलों को स्मार्ट तकनीक में बदल रही है। सरकारी स्कूल निजी स्कूलों की तरह काम कर रहे हैं। क्लासरूम को देखकर कोई फर्क नहीं बता सकता है कि यह निजी स्कूल है या सरकारी। पढ़ाई के लिए ई-कंटेंट का प्रयोग किया जा रहा है। बढ़िया क्लासरूम, रंगदार फर्नीचर, वॉल वर्क के अलावा कई अन्य चीजों पर ध्यान दिया जा रहा है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

क्या कहते हैं आंकड़े

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us