विज्ञापन

रेलवे बोर्ड ग्रुप डी का पेपर लीक

ब्यूरो/अमर उजाला, रोहतक Updated Mon, 01 Dec 2014 02:42 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
रेलवे बोर्ड के ग्रुप डी में कर्मचारियों की भर्ती परीक्षा का पेपर लीक हो गया।
विज्ञापन
गुप्तचर विभाग की टीम और रोहतक पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में पेपर लीक करने के आरोपी दो युवकों को आसन गांव से गिरफ्तार किया गया है।

इनके कब्जे से आंसर-की समेत कई संदिग्ध चीजें भी बरामद की गई हैं। दोनों के पास पेपर शुरू होने से करीब पौना घंटे पहले ही आंसर की पहुंच गई थी।

आंसर-की को उन्होंने करीब 30 लड़कों तक इंटरनेट के जरिए पहुंचा दिया था। पेपर हल कर आंसर-की पहुंचाने का सौदा प्रति कैंडीडेट दो लाख रुपये में तय किया गया था और कुछ पैसा एडवांस भी लिया गया। देर रात तक पुलिस की जांच चलती रही।
रविवार को रेलवे बोर्ड की ओर से ग्रुप डी में कर्मचारियों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा ली गई। देशभर में सेंटर बनाए गए। गुप्तचर विभाग की स्पेशल ब्रांच रोहतक रेंज प्रभारी को सूचना मिली कि  पेपर लीक करने का खेल रोहतक में भी चल रहा है। कुछ संदिग्धों से गुप्त जानकारी जुटाई गई। दो युवकों के नाम सामने आए तो पुलिस ने उनकी लोकेशन का पता किया। गुप्तचर शाखा प्रभारी ने रोहतक पुलिस की सीआईए-2 की टीम के साथ रविवार सुबह साढ़े 10 बजे दोनों को थाना सदर रोहतक के गांव आसन से काबू कर लिया। मौके पर ही दोनों के कब्जे से आंसर-की भी मिली। दोनों की पहचान विशाल उर्फ मोनू और देवेंद्र के रूप में हुई। परीक्षा 11 बजे शुरू होनी थी, लेकिन इससे पहले ही दोनों आरोपी 25-26 परीक्षार्थियों को आंसर-की इंटरनेट के जरिए भेज चुके थे।
6 लोगों का है गिरोह
आरोपियों ने शुरुआती जांच में स्वीकार किया है कि उनका 6 लोगों का गिरोह है। इस गैंग में शामिल एक-दो लोगों के रेलवे बोर्ड में अधिकारियों के साथ गहरे तार जुड़े हैं। वहां से गिरोह प्रश्न पत्र की व्यवस्था कर आंसर-की का जुगाड़ कर लेता। पुलिस दोनों आरोपियों से गैंग के दूसरे सदस्यों के बारे में पूछताछ कर रही है।
परीक्षा से 40-45 मिनट पहले पहुंच जाती थी आंसर-की
आरोपियों का नेटवर्क काफी मजबूत है। पेपर शुरू होने से 40-45 मिनट पहले ही आरोपियों के साथी आंसर-की पूरे नेटवर्क में भेज देते। तुरंत बाद ही सभी अपने-अपने ग्राहकों तक आंसर-की पहुंचा देते थे।
वर्जन ::::
‘रेलवे के ग्रुप डी परीक्षा के मामले में सूचना मिली थी कि रोहतक में कुछ लोग पेपर लीक  गैंग से जुडे हैं और वे कुछ खेल कर सकते हैं। आसन गांव निवासी दो युवकों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से काफी संदिग्ध चीजें मिली हैं। जिससे शक है कि वे पेपर लीक मामले में शामिल हैं। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।’
शशांक आनंद, एसपी, रोहतक।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

कच्चे तेल के भंडार की संभावना पर लगाया जीपीएस

गंगा के तराई वाले इलाकों में कच्चे तेल के भंडार की तलाश कर रही ऑयल एंड नेचुरल गैस कमीशन (ओएनजीसी) की टीम ने तीन दिन में पांच किमी के दायरे में दो स्थानों पर डीप बोरिंग करने के बाद बांगरमऊ के अलेलखेड़ा गांव के पास अपना जीपीएस सिस्टम स्थापित किया।

14 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

फिर से पीएम को लेकर थरूर ने दिया विवादित बयान, कहा नेहरू की वजह से बने PM

शशि थरूर एक बार फिर से पीएम पर दिए अपने बयान को लेकर फंस गए हैं। थरूर ने कहा कि आज जवाहरलाल नेहरू की वजह से ही एक चायवाला प्रधानमंत्री बन पाया है।

14 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree