विज्ञापन
विज्ञापन

ईरान, अल कायदा, तालिबान पीड़ितों को दें मदद

न्यूयॉर्क/एजेंसी Updated Wed, 01 Aug 2012 12:00 PM IST
iran-al-qaeda-and-taliban-gave-six-billion-dollars-to-victims
ख़बर सुनें
अमेरिका के एक संघीय मजिस्ट्रेट जज ने एक व्यापक प्रतीकात्मक फैसले में सुझाव दिया है कि ईरान, अल कायदा और तालिबान को चाहिए कि वह 11 सितंबर 2001 के आतंकी हमले के शिकार हुए लोगों के परिवारों को छह अरब डॉलर की आर्थिक मदद दें।
विज्ञापन
विज्ञापन
वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए इस हमले में मारे गए कैप्टन विक्टर की पत्नी एलेन सारासिनी ने डेली न्यूज से कहा कि जो कुछ हुआ, उसकी भरपाई तो असंभव है, लेकिन फिर भी वे मैनहट्टन के संघीय मजिस्ट्रेट फ्रैंक मास की इस अनुशंसा से खुश हैं। एलेन कहती हैं, ‘खुश होना आसान नहीं है पर मैं खुश हूं। बहरहाल इस फैसले ने हमारे पुराने घावों को फिर से हरा कर दिया। हम कभी मुकदमे के चक्कर में नहीं पड़े, मैं जानना चाहती थी कि मेरे पति के साथ आखिर हुआ क्या था?’

विक्टर उन अपहृत विमानों में से एक के कैप्टन थे, जिन्हें अपहरण के बाद वर्ल्ड ट्रेड सेंटर से टकराया गया था। पिछले साल इस हमले में मारे गए 47 लोगों के परिजनों की ओर से दाखिल एक याचिका पर जज जॉर्ज डेनियल्स ने अल कायदा, तालिबान और ईरान को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने मजिस्ट्रेट को आदेश दिया था कि वे इन हमलों में हुई क्षति का आकलन करें।

फ्रैंक मास की ओर से की गई इन अनुशंसाओं को स्वीकारना या नकारना अब डेनियल्स पर निर्भर है। मास ने इस राशि में दंडात्मक और परिपूरक हरजाने को जोड़ा है। जस्टिस डेनियल ने पिछले साल व्यवस्था दी थी कि अल कायदा तभी हमला करने में सक्षम हुआ जब तालिबान और इराक ने संरक्षण दिया।

ईरान पर आरोप
निष्कर्ष में कहा गया है कि ईरान ने आतंकी संगठन अल कायदा के नेतृत्व को सुरक्षित ठिकाना और सामग्री व संसाधन उपलब्ध कराना जारी रखा। हालांकि ईरान के राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद 9/11 हमले या अल कायदा से किसी तरह का संबंध होने से इनकार कर चुके हैं। अमेरिका के अनुसार ईरान ने 9/11 हमले में विमानों को हाईजैक करने वालों को अपने देश से होकर जाने दिया, हालांकि इस हमले की जांच कर रहे आयोग को इस बात के कोई सबूत नहीं मिले हैं कि हमले की ईरान को जानकारी रही होगी।

Recommended

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
Astrology

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
Astrology

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

रजिस्ट्री रद्द नहीं कर सकते उपनिबंधक : हाईकोर्ट

हाईकोर्ट के तीन जजों की पूर्णपीठ ने अपने महत्वपूर्ण निर्णय में कहा है कि उपनिबंधक को बैनामा (रजिस्ट्री) रद्द करने का अधिकार नहीं है।

23 मई 2019

विज्ञापन

हार से पस्त हुई कांग्रेस का महामंथन, बैठक में भारी फेरबदल के संकेत

आम चुनाव में मिली करारी हार के बाद दिल्ली मुख्यालय में कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक जारी है। इसमें शामिल होने के लिए यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी भी पहुंची।

25 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree