विज्ञापन

लिंगानुपात के लिए जागरूक करेगा ‘डॉ. शिव कुमार मॉडल’

ब्यूरो/अमर उजाला, रोहतक Updated Mon, 01 Dec 2014 02:52 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कुरुक्षेत्र के बाद अब प्रदेश भर में लिगांनुपात के प्रति लोगों को जागरूक करने के बाद डॉ. शिव कुमार मॉडल के साथ अब स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन भी आ गया है।
विज्ञापन
सिविल सर्जन डॉ. शिव कुमार की ओर से ‘बेटी बचाओ अभियान’ के लिए तैयार किया गया संकल्प पत्र अब प्रदेश भर में जागरूकता अभियानों में पढ़ा जाएगा।

इस अभियान के लिए शामिल किए गए मॉडल का नाम भी सिविल सर्जन के नाम ‘डॉ. शिव कुमार मॉडल’ पर दिया गया है।
डॉ. शिव कुमार ने बताया कि लिंगानुपात के प्रति जागरूक करने के लिए वर्ष 2012 में धर्म क्षेत्र कुरुक्षेत्र से अभियान शुरू किया गया था। यहां उस समय लिंगानुपात प्रति हजार पुरुष में 751 लड़कियों का था। वर्ष 2012 व 2013 में लिंगानुपात को 800 की संख्या तक पहुंचाया। कुरुक्षेत्र के उपायुक्त रहे निखिल गजराज के सहयोग से अभियान में तेजी लाई गई और हर माह के पहले मंगलवार को संकल्प शपथ पत्र के लिए निश्चित कर दिया था। लोगों को शपथ दिलाने का प्रयास सफल रहा और लिंगानुपात वर्ष 2013-14 में 890 पहुंच गया। इस वर्ष प्रदेश में सबसे अधिक लिंगानुपात का अंतर घटाने वाला जिला कुरुक्षेत्र बन गया था। अब डॉ. शिव का संकल्प शपथ पत्र प्रदेश भर में अभियान चलाएगा।

बॉक्स
यह है डॉ. शिव कुमार मॉडल संकल्प शपथ पत्र
‘मैं परमपिता परमेश्वर एवं अपनी सबसे प्रिय वस्तु को साक्षी मानकर शपथ लेता हूं कि मैं कन्या भ्रूणहत्या की रोकथाम के लिए अपने परिवार, रिश्तेदार समाज को जागृत करूंगा और कन्या भ्रूण हत्या नहीं होने दूंगा। मैं यह भी संकल्प लेता हूं कि दहेज प्रथा को रोकने व लड़कियों की सामाजिक सुरक्षा बिना भेदभाव प्रदान करके समाज को जागृत करूंगा।’ धन्यवाद।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

हादसे में बाइक सवार युवक की मौत

कस्बे में सांडी तिराहे पर बुधवार सुबह हुआ हादसा

21 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

दीपवीर के बाद अब नजरें अंबानी की बेटी की शादी पर, यह होगा खास

शादियों के इस मौसम में दीपवीर के बाद जल्द ही देश के सबसे बड़े बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी की शादी होने जा रही है।

22 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree