विज्ञापन
विज्ञापन

कर्नल मलिक पूर्व सैनिक संघ के प्रधान

अमर उजाला ब्यूरो/ रोहतक Updated Mon, 03 Nov 2014 02:22 AM IST
ख़बर सुनें
कर्नल आर. एस. मलिक को हरियाणा पूर्व सैनिक संघ का प्रधान चुना गया है।
विज्ञापन
हरियाणा पूर्व सैनिक संघ का चुनाव रविवार का यहां के सेक्टर-4 स्थित संघ के निर्माणाधीन भवन में हुआ। सोसायटी एक्ट के तहत हुए चुनाव में कर्नल बलबीर सिंह वरिष्ठ उप प्रधान चुने गए।

चुनाव अधिकारी ब्रिगेडियर एस. एस. रुहिल ने बताया कि तीन महीने चली चुनावी प्रक्रिया में 8, 9 और 13 सितंबर को प्रदेशभर में भूतपूर्व सैनिकों की संघ सदस्यता के अनुसार 105 डेलीगेट्स चुने गए। इन डेलीगेट्स ने रविवार सुबह 8 बजे रोहतक में मतदान किया।
किस पद के लिए कौन रहे मैदान में
प्रधान पद के लिए
ले. जनरल ओंकार सिंह लोहचब
कर्नल एस. के. कुंडू
कर्नल रणधीर सिंह मलिक
कर्नल आर. एस. मलिक 50 मत लेकर प्रधान पद के लिए निर्वाचित हुए।
वरिष्ठ उपप्रधान पद
कर्नल के. एस. यादव
कर्नल टी. सी. दहिया
कर्नल बलबीर सिंह
कर्नल बलबीर सिंह 49 मत पाकर वरिष्ठ उपप्रधान पद पर विजयी रहे।
निवर्तमान प्रधान कमांडर इंद्र सिंह, वीर चक्र और वरिष्ठ उपप्रधान कर्नल कर्ण सिंह ने सभी को बधाई दी।
लंबित मांगों को कराएंगे पूरा
नवनिर्वाचित प्रधान मलिक ने पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों के लिए कल्याणकारी कार्य जारी रखने का भरोसा दिलाया। कहा, सबसे पहले पूर्व सैनिकों की लंबित पड़ती जा रही एक रैंक एक पेंशन की मांग को तुरंत लागू करवाने के लिए सरकार से अपील करेंगे। अपील की सुनवाई नहीं हुई तो दिल्ली में प्रदर्शन किया जाएगा।
विज्ञापन

Recommended

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

अमर उजाला के संपादक डॉक्टर इंदुशेखर पंचोली को मातृ शोक

प्रमुख साहित्यकार और शिक्षाविद डॉक्टर बद्रीप्रसाद पंचोली की धर्मपत्नी एवं अमर उजाला दिल्ली के संपादक डॉ. इंदुशेखर पंचोली की माताजी श्रीमती कमला पंचोली का बुधवार तड़के अजमेर में निधन हो गया। वे 80 वर्ष की थीं।

2 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

आंखों से रोशनी जाने पर भी नहीं टूटे सपने, कानपुर के अवधेश कुमार ने पास की पीसीएस परीक्षा

चार साल पहले एक बीमारी की वजह से कानपुर के अवधेश कुमार कौशल की आंखों की रोशनी चली गई, मगर उन्होंने हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत और जुनून से पीसीएस अधिकारी बनकर ही माने।

14 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree